HomeOthersअब न स्टेशन जाना होगा, न एजेंट को देने होंगे ज्यादा पैसे,...

अब न स्टेशन जाना होगा, न एजेंट को देने होंगे ज्यादा पैसे, गांव में ही मिलेगी ट्रेन की कंफर्म टिकट, रेलमंत्री ने की घोषणा

भारतीय रेलवे ने यात्रियों की सुविधा बढ़ाने के लिए एक नई टिकटिंग की व्यवस्था की है. अब यात्रियों को ट्रेन टिकट बुक करने के लिए स्टेशन या एजेंट के पास जाने की जरूरत नहीं है. रेलवे ने खासतौर पर ग्रामीण इलाकों को ध्यान में ये फैसला किया है. रेलवे ने देशभर में 45,000 डाकघरों में टिकट बुकिंग की व्यवस्था की है.

रेलमंत्री ने की घोषणा

पिछले दिनों खजुराहो में केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने इसकी घोषणा की थी. रेलमंत्री ने ये भी बताया था कि अब रेल टिकट लेने में भी परेशानी नहीं होगी. इसके लिए रेलवे ने देशभर के 45,000 डाकघरों में टिकटिंग की व्यवस्था की है, यात्री बिना किसी परेशानी के यहां से टिकट ले सकते हैं. इसके साथ ही खजुराहो और दिल्ली के बीच वंदेभारत ट्रेन पर अपडेट देते हुए रेल मंत्री ने बताया था कि इस रूट पर अगस्त तक इलेक्ट्रिफिकेशन का काम पूरा हो जाएगा. तब तक वंदे भारत ट्रेन भी चलने लगेगी. यानी ये मानकर चला जाए की अगस्त के बाद कभी भी मध्य प्रदेश को वंदे भारत ट्रेन की सौगात मिल सकती है, जिसके लिए डाकघर से ही टिकट बुक हो सकती है.

ग्रामीण इलाकों को ध्यान में रखकर शुरू की सेवा

गौरतलब है कि स्टेशन से दूर दराज में रहने वाले लोगों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए डाक घरों में रेल आरक्षण कराने की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है, ताकि रेल रिजर्वेशन के लिए लोगों को भटकना न पड़े. इन डाक घरों में रेल आरक्षण बुकिंग का कार्य डाक घर के प्रशिक्षित कर्मचारियों द्वारा किया जाता है. रेलवे द्वारा नेटवर्क कनेक्टिविटी के साथ हार्डवेयर उपलब्ध कराया गया है. इस योजना से शहर ही नहीं, बल्कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी लोगों को आस पास के डाकघरों से अपनी ट्रेनों के लिए रिजर्वेशन कराने की सुविधा मिलेगी. रेलवे ने नागरिकों से अनुरोध किया है कि वर्तमान में रेलवे द्वारा डाक घरों में प्रदत्त कराई गई रेल आरक्षण बुकिंग की सुविधा का लाभ उठाएं.

ई-टिकटिंग की भी नई सुविधा शुरू

हालांकि इससे पहले भारतीय रेलवे यात्रियों की सुविधा का ध्यान रखते हुए उन्हें वेटिंग और लंबी कतारों से मुक्ति देते हुए ई-टिकटिंग की नई सुविधा भी शुरू की है. इसके तहत रेल यात्री अब यात्रा टिकट, प्लेटफॉर्म टिकट और मंथली पास के नवीकरण के लिए ऑटोमेटिक टिकट वेंडिंग मशीन पर पेटीएम, फोनपे, फ्रीचार्ज जैसे यूपीआई बेस्ड मोबाइल ऐप से क्यूआर कोड स्कैन कर डिजीटल पेमेंट कर सकेंगे. इस सुविधा में यात्री ऑटोमेटिक टिकट वेंडिग मशीन से मिलने वाली सुविधाओं के लिए डिजिटिल ट्रांजेक्शन से भी भुगतान कर सकेंगे. यात्री इसके जरिए एटीवीएम स्मार्ट कार्ड को भी रिचार्ज करा सकते हैं. क्यूआर कोड को स्कैन कर यात्री फोन के माध्यम से डिजीटल भुगतान कर टिकट प्राप्त कर सकते हैं.

एवीटीएम स्मार्ट कार्ड कर सकते हैं रिचार्ज

इसके अलावा यात्री एवीटीएम स्मार्ट कार्ड रिचार्ज करने के लिए भी इसका प्रयोग कर सकते हैं. इसे स्कैन करने और पेमेंट करने के बाद यात्रियो को तुरन्त अपने गंतव्य को टिकट मिल जाएगा. रेलवे की तरफ से इस सुविधा को शुरू करने के मौके पर यात्रियों से अपील की कि ज्यादा से ज्यादा डिजीटल मोड में पेमेंट करें और लंबी लाइन से छुटकारा पाए.

Html code here! Replace this with any non empty raw html code and that's it.
RELATED ARTICLES

Most Popular