मकर संक्रांति 2024: मकर संक्रांति पर इस तरह सूर्य देव की पूजा करने से खुल जाते हैं खुशियों के बंद दरवाजे।

0
292

मकर संक्रांति 2024 

मकर संक्रांति का त्योहार हर साल पूरे देश में उस दिन मनाया जाता है जिस दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है। मकर संक्रांति 15 जनवरी 2024 को मनाई जाएगी। माना जाता है कि इस विशेष दिन पर भगवान सूर्य की पूजा और व्रत करने से साधक के लिए सौभाग्य और समृद्धि के द्वार खुल जाते हैं और भगवान सूर्य प्रसन्न होते हैं।

मकर संक्रांति पर भगवान सूर्य देव की पूजा करें।

मकर संक्रांति 15 जनवरी 2024 को मनाई जाएगी.
मकर संक्रांति के दिन सूर्य देव की पूजा करना शुभ होता है।
सूर्य देव की पूजा करते समय मंत्रों का जाप करना चाहिए।

मकर संक्रांति का त्योहार हर साल सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करने के दिन पूरे देश में मनाया जाता है। मकर संक्रांति 15 जनवरी 2024 को मनाई जाएगी। माना जाता है कि इस विशेष अवसर पर सूर्य देव की पूजा और व्रत करने से साधक के लिए सुख-समृद्धि के द्वार खुल जाते हैं और सूर्य देव संतुष्ट हो जाते हैं। आइए जानते हैं मकर संक्रांति के मौके पर सूर्य देव की पूजा कितनी फलदायी होती है।

मकर संक्रांति सूर्यदेव की पूजा विधि

  • मकर संक्रांति के दिन ब्रह्म मुहूर्त में उठे और दिन की शुरुआत भगवान विष्णु और सूर्य देव के ध्यान से करें।
  • इस दिन पवित्र नदी में स्नान करें। अगर नदी में स्नान करना संभव नहीं हैं, तो नहाने के पानी में गंगाजल डालकर स्नान करें।
  • नहाने के बाद तांबे के लोटे में अक्षत और फूल डालकर भगवान सूर्य देव को अर्घ्य अर्पित करें। इस दौरान निम्न मंत्र का जाप करें।
  • ऊँ सूर्याय नम: ऊँ खगाय नम:, ऊँ भास्कराय नम:, ऊँ रवये नम:, ऊँ भानवे नम:, ऊँ आदित्याय नम:
  • इसके बाद सूर्य स्तुति का पाठ करें।

मकर संक्रांति 2024:

  • बता दें कि मकर संक्रांति के दिन सूर्य देव की पूजा-अर्चना करना बेहद शुभ होता है। इसलिए इस दिन सूर्य की उपासना अवश्य करें।
  • मकर संक्रांति का त्योहार हर साल 14 जनवरी को मनाया जाता है। लेकिन इस बार मकर संक्रांति 15 जनवरी को मनाई जाएगी. इस साल ग्रहों की दिशा में बदलाव के कारण मकर संक्रांति की तारीख में बदलाव हुआ है।

ये भी पढ़ें https://indiabreaking.com/youth-day/

मकर संक्रांति पर स्नान और दान के लिए सबसे अच्छा समय सुबह 5:07 बजे से 8:12 बजे तक है। इसके अलावा शुभ काल में मकर संक्रांति की पूजा करना बहुत लाभकारी होता है। इस दिन शुभ समय सुबह 7:15 बजे से है। शाम 6:21 बजे तक महा पुण्य काल दोपहर 12:15 बजे से है। रात्रि 9:06 बजे तक

मकर संक्रांति 2024: हम इस लेख में मौजूद जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता के लिए ज़िम्मेदार नहीं हैं। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारी आपके समक्ष प्रस्तुत की गयी है। हमारा लक्ष्य केवल ऐसी जानकारी प्रदान करना है जिसे उपयोगकर्ता केवल सूचना समझे। इसके अलावा, किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी उपयोगकर्ता की है।

कृपया इस बात पर भी ध्यान दें

और जानिया https://hi.wikipedia.org/wiki/%E0%A4%AE%E0%A4%95%E0%A4%B0_%E0%A4%B8%E0%A4%82%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A5%8D%E0%A4%A4%E0%A4%BF

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here