HomeOthersफिर मोबाइल गेम बना मौत का कारण, भाई ने छीना फोन तो...

फिर मोबाइल गेम बना मौत का कारण, भाई ने छीना फोन तो नौ साल की बच्ची ने लगा ली फांसी

मोबाइल पर गेम खेलने की लत ने गुरुवार को एक बच्ची की जान ले ली। अतर्रा में गेम खेल रही चौथी की छात्रा से उसके भाई ने मोबाइल छीन लिया तो उसने गुस्से में भांजे के लिए डाले गए झूले से फांसी लगा ली। वह कमरे में कर क्या कर रही है, उसका भाई समझ नहीं पाया। घटना के वक्त माता-पिता बाहर थे।

अतर्रा थानाक्षेत्र के सिविल लाइंस निवासी ड्राइवर पूरन वर्मा के पांच बच्चे हैं। सबसे छोटी नौ वर्षीय बेटी लक्ष्मी गुरुवार को मोबाइल में गेम खेल रही थी। उससे बड़ा भाई 12 साल का रानू खुद गेम खेलने के लिए मोबाइल छीनने लगा। इस पर दोनों में झगड़ा हो गया। रानू ने अंतत: मोबाइल छीन लिया और खुद गेम खेलने लगा। क्षुब्ध होकर लक्ष्मी दूसरे कमरे में चली गई। भाई समझ ही नहीं पाया कि बहन अंदर क्या कर रही है। कुछ देर बाद भोजन बना रही बड़ी बहन निशा कमरे में पहुंची तो लक्ष्मी फंदे पर लटक रही थी। निशा यह देखकर चीख पड़ी।

भाई बहन रोने लगे तो मोहल्ले के लोग पहुंचे। लक्ष्मी को फंदे से नीचे उतारकर सीएचसी ले गए, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बड़ी बहन निशा ने बताया कि लक्ष्मी प्राथमिक विद्यालय में कक्षा चार की होनहार छात्रा थी। घटना के समय मां कलावती बाजार में खरीदारी करने गई थीं। पिता ड्राइवर हैं। वह गाड़ी लेकर गए थे। थानाध्यक्ष अनूप दुबे का कहना है कि घटना संज्ञान में नही है।

दो दिन पहले सिले थे मां के कपड़े

मृतका के पिता ने बताया कि लक्ष्मी होनहार थी। सबसे बड़ा बेटा बाहर रहता है। हाल में वह अपनी पत्नी को लेकर आया था। लक्ष्मी ने अपनी भाभी से सिलाई सीखी थी। दो दिन पहले उस ने अपनी मां के कपड़े सिले थे।

घर में पड़े झूले से लगाई फांसी

पूरन वर्मा ने बताया कि बड़ी बेटी एक रिश्तेदार के वैवाहिक समारोह में शामिल होने के लिए घर आई है। उसके छोटे बच्चे के लिए घर में साड़ी का झूला डाल रखा है। लक्ष्मी ने उसी साड़ी के झूले को फंदा बनाकर फांसी लगा ली। घटना के वक्त शादीशुदा बड़ी बेटी, बेटा रानू और उससे बड़ा बेटा 15 वर्षीय शैलेंद्र घर में था।

Html code here! Replace this with any non empty raw html code and that's it.
RELATED ARTICLES

Most Popular