आप भी समुंदर में देख सकते हो टाइटैनिक जहाज का मलबा, खर्च करने होंगे इतने रुपये

टाइटैनिक दुनिया का सबसे खूबसरत और बड़ा जहाज था.  इस जहाज के बारे में ऐसा कहा जाता था कि यह जहाज कभी नहीं डूबेगा, लेकिन कुदरत को कुछ और ही मंजूर था.  जब 14-15 अप्रैल, 1912 की रात को ब्रिटिश जहाज टाइटैनिक बर्फ के पहाड़ से टकराकर उत्तरी अटलांटिक सागर में डूब गया.  जिसके मलबे को 1985 में ढूंढा गया था.

Image Credit: Ocean Gate

अब उन टाइटैनिक प्रेमियों के लिए अच्छी खबर हैं जो टाइटैनिक के मलबे को अपनी आंखों से देखना चाहते हैं. अब आप खुद टाइटैनिक के मलबे को देख सकते हैं. लेकिन इसके लिए आपको करीब 93 लाख रुपए खर्च करने होंगे. यह समुद्र की सतह से लगभग 12,467 फीट नीचे की यात्रा होगी.

Image Credit: Ocean Gate

पानी के नीचे की दुनिया की खोज करने वाली एक कंपनी ने टाईटैनिक सर्वे एक्सपीडिशन 2021 प्रोजेक्ट की घोषणा की है. इस दौरान लोगों को टाइटैनिक के मलबे की सैर कराई जाएगी

Image Credit: Ocean Gate

फॉक्स न्यूज के अनुसार, ओशनगेट एक्सपीडिशन का प्रोजेक्ट पानी के नीचे टाइटैनिक के मलबे की खोज और रिसर्च के लिए ‘नागरिक विशेषज्ञों’ को ‘मिशन विशेषज्ञ’ के रूप में प्रशिक्षित करेगा. ओशनगेट के अनुसार, इस मिशन के विशेषज्ञ जिन्हें विशेषज्ञता में शामिल होने के लिए स्वीकार किया जाएगा, वे नागरिक वैज्ञानिकों और खोजकर्ताओं को मलबे वाली जगह पर ले जाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे.

 Image Credit: Ocean Gate

पहले शेड्यूल का उद्घाटन जुलाई के मध्य से मई के अंत तक होगा और इसके लिए छह मिशन निर्धारित हैं. प्रत्येक मिशन 10 दिनों तक चलेगा और इसमें 5 पनडुब्बी गोताखोर शामिल होंगे. जो नागरिक वैज्ञानिकों और खोजकर्ताओं को मलबे की साइट पर ले जाएंगे. ओशनगेट के अनुसार, सिरीज का एक और सेट गर्मियों में 2022 में चलेगा.

Image Credit: Ocean Gate

फॉक्स न्यूज के अनुसार, प्रत्येक मिशन पर जाने के लिए 9 योग्य वैज्ञानिकों को मंजूरी दी जाएगी. पांच व्यक्तियों पर केवल तीन “मिशन विशेषज्ञ” की अनुमति दी जाएगी.

Advertisement