करनाल: सीआईए ने एमटीपी किट और नशे की हजारो गोलियों के साथ महिला को किया काबू, पति हुआ फरार

5 से 10000 में बिकती थी एमटीपी किट, मोठे मुनाफे में नशे की गोलियां बेचकर युवाओं को बना रहे थे शिकार।

करनाल : करनाल की सीआईए -2 शाखा को बड़ी कामयाबी हासिल हुई। करनाल के न्यू प्रेम नगर से गर्भपात करने वाले अवैध एमटीपी किट और नशे की हजारों गोलियां पकड़ी गई। सीआईए 2 के निरीक्षक मोहन लाल ने जानकारी देते हुए बताया कि उन्हें गुप्त सूचना मिली थी कि एक महिला और उसका पति प्रेम नगर में अवैध तौर पर एमटीपी किट और नशे की गोलियों की सप्लाई करते है जिसके बाद सीआईए ने टीम बनाकर न्यू प्रेम नगर स्थितएक मकान पर छापा मारकर बड़ी मात्रा में एमटीपी किट और नशे की गोलियों की बड़ी खेप बरामद की। इस मौके पर ड्रग विभाग की और से 3 अधिकारी मौजूद थे जिनमें ड्रग इंस्पेक्टर ऋतु मेहला ने विभागीय कार्रवाई को पूरा करवाया। निरीक्षक मोहन लाल ने बताया कि जिस मकान में छापा मारा गया वहां से आरोपी के तौर पर एक महिला शिल्पा सिक्का को गिरफ्तार किया गया है। महिला के पति का नाम कमल सिक्का है जो पहले भी नशा तस्करी में दोषी होने पर 5 साल की सजा काटकर कुछ महीने पहले ही सजा पूरी कर बाहर आया था कि बाहर आते ही उसने फिर यही काम शुरू कर दिया और इस बार उसकी पत्नी भी रंगे हाथों एमटीपी किट और नशे की गोलियों के साथ पकड़ी गई। पुलिस की ओर से दी गई जानकारी अनुसार सीआईए -2 शाखा ने छापामार कार्यवाही करते हुए हजारों संख्या में नशे की गोली और एमटीपी किट बरामद की जो कि गर्भपात के लिए इस्तेमाल की जाती है। पकड़ी गई खेप में 104 एमटीपी किट,10800 ट्रामाडोल के कैप्सूल , 1200 अलपरा जोलम की गोलियां, 28080 लोमोटिल और लोराजी पाम की 350 गोलियां बरामद की गई है।

एक सवाल के जवाब में सीआईए-2 शाखा इंचार्ज मोहन लाल ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर पता चला था कि दिल्ली से एक लड़का जो कि न्यू प्रेम नगर का रहने वाला है बड़ी संख्या में नशे की दवाइयों लेकर आने वाला है जो इससे पहले भी नशे की दवाइयों के कारोबार में संलिप्त था और करीब 5 साल जेल की सजा भी काट चुका है चार-पांच महीने पहले ही वह जेल से छूटा था। जो कल भी काफी मात्रा में नशे की गोलियां और एमटीपी किट लेकर दिल्ली से आएगा फिर सूचना के आधार पर हमने उसके घर पर रेड की। रेड के दौरान सीआईए-2 के 6 पुलिसकर्मी व ड्रग इंस्पेक्टर अपने स्टाफ के साथ स्टाफ मौजूद थे। जिसमें युवक कमल सिक्का करीब 10 मिनट पहले ही बाकी दवाइयों की डिलीवरी लेकर निकल गया था और वह घर पर नहीं मिला पर उसकी पत्नी और बाकी परिवार के सदस्य मौजूद थे। उसकी पत्नी ने अपने बेड में से बाकी की दवाइयां और एमटीपी किट निकाल कर दी थी।

आपको बता दें कि एमटीपी किट जो कि पूरी तरह प्रतिबंधित है और बिना डाक्टर के लिखित परामर्श नहीं बची जा सकती उसे ये लोग 5000 से 10000 रुपये में बेच कर मोटा मुनाफा कमा रहे थे। अभी तक जो जानकारी मिली है उसके अनुसार ये तमाम खेप दिल्ली से लाकर इन्हें कई दुकानदार और एजेंट के माध्यम से ग्राहकों को बेचा जाता था। वहीं नशे की ये गोलियां मोटे मुनाफे में बेचकर युवाओं को नशे का आदि बनाया जा रहा है। एसएचओ मोहन लाल ने बताया कि महिला के पति कमल सिक्का की तलाश जारी है और जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Advertisement