06 मोटरसाईकिलों व एक एक्टिवा और एक अवैध पिस्तौल के साथ 03 आरोपियों को किया गिरफ्तार

इंडिया ब्रेकिंग/करनाल रिपोर्टर(ब्यूरो) पुलिस अधीक्षक करनाल  सुरेन्द्र सिहं भौरिया के दिशा निर्देशो अनुसार वाहन चोरी की वारदातों को रोकने के लिए चलाए गए अभियान के तहत 10 फरवरी को उप निरीक्षक रोहताश सिंह इन्चार्ज एन्टी ऑटो थैफ्ट स्टाफ सी0 आई0 ए0 वन, करनाल के नेतृत्व मे प्राप्त हुई गुप्त सुचना के आधार पर नाकाबंदी करके आरोपी 1.भगवान उर्फ नन्हा पुत्र रणधीर, 2. मोहित उर्फ बन्टी पुत्र जगवीर शर्मा वासीयान गांव खोरा खेडी थाना घरौंडा जिला करनाल को चोरी की मोटरसाईकिल व देशी पिस्तोल सहित बसन्त बिहार करनाल से गिरफतार किया। 11 फरवरी को पुलिस टीम द्वारा दोनों आरोपीयों को पेश अदातल करके पुलिस रिमाण्ड हासिल किया गया।

13 फरवरी को एंटी ऑटो थेफ़्ट की एक टीम द्वारा आरोपी गुरप्रीत उर्फ गोपी पुत्र सरदार गुरदीप सिहं वासी गुरूनानक पुरा थाना गंगोह जिला सहारनपुर यूपी को चोरी की मोटर साईकल सहित मेरठ रोड़ करनाल पर आवर्धन नहर पुल के पास गिरफ्तार किया व पेश अदालत करके पुलिस रिमाण्ड पर लिया। जो उपरोक्त सभी आरोपीयों से रिमाण्ड के दौरान 06 चोरीशुदा मोटर साईकलें, एक कार व एक एक्टीवा और एक अवैध देशी पिस्तौल बरामद हुई। जिनके संबंध में पहले से ही शिकायतकर्ता की शिकायत पर सम्बंधित थानों में मामलें दर्ज हैं। आरोपीयों द्वारा इनमें से 03 मोटर साईकिलें व एक कार स्विफ्ट थाना शहर करनाल व 02 मोटर साईकिल थाना सिविल लाईन करनाल व 01 एक्टीवा थाना सै0-32,33 करनाल और एक मोटर साईकिल थाना असन्ध क्षेत्र से चोरी की थी। 15 फरवरी को आज आरोपीयों की रिमांड अवधी समाप्त होने पर इन्हें पुन: सामने पेश किया जाएगा।इस संबंध में जानकारी देते हुए एंटी ऑटो थेफ़्ट रिक्षक रोहताष सिंह ने बताया कि तीनों आरोपी पहले भी वाहन चोरी व घरेलू चोरियों के संबंध में गिरफ्तार हो चुके हैं और अभी कुछ दिन पहले ही आरोपी भगवान उर्फ नन्हा व मोहित उर्फ बंटी द्वारा रिफाइनरी टाउन सिप में एक घर में चोरी की वारदात के संबंध में भी खुलासा किया है, जिस संबंध में पानीपत पुलिस को सूचित कर दिया गया है। उन्होंनें बताया कि आरोपी पार्किंग से बाहर खड़ी हुई या जिस पार्किंग में कोई व्यक्ति तैनात न हो या जिन वाहनों के लॉक आसानी से खुल जाते हैं उन्हें अपना निशाना बनाते थे और चोरी करने के बाद आरोपी वाहनों को अलग-अलग स्थानों जैसे घरौंडा या करनाल व अन्य स्थानों पर लिए किराये के कमरों पर रखते थे।

Advertisement