पानीपत: पत्नी ने किया देह व्यापार करने से इंकार तो पति ने किया कुछ ऐसा…

शादी में बाइक व नगदी न मिलने से नाराज ससुरालियों ने छह साल तक विवाहिता पर अत्याचार किए। बेटी होने के बाद प्रताड़ना और बढ़ गई। मायके से बाइक व नगदी देने में असमर्थ होने पर पति ने देह व्यापार का दबाव बनाया। इंकार करने पर विवाहिता को जान से मारने का प्रयास किया गया।

उसमें असफल होने पर दहेज लोभियों ने बेटा छीनकर विवाहिता को घर से निकाल दिया। अब सेक्टर-29 थाने में पति, सास और ननंद के खिलाफ 5 धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

सेक्टर-29 थाना क्षेत्र की एक महिला ने बताया कि उसकी शादी 2014 में हुई थी। पिता ने हैसियत के अनुसार दान दिया। दहेज में बाइक न मिलने से नाराज ससुराल पक्ष ने परेशान करने शुरू कर दिया। बेटी होने के बाद ससुराल पक्ष की प्रताड़ना और बढ़ गई। पति शराब पीकर पीटने लगा। कई बार पंचायत हुई तो समझौता हो गया। कुछ दिन ठीक रहने के बाद फिर मारपीट शुरू कर दी। बेटा होने पर पिता ने आर्थिक मदद की, लेकिन ससुराल पक्ष का रवैया नहीं बदला।

वह एक फैक्ट्री में काम करने लगी। ताकि बच्चों की परवरिश कर सके। पति का शराब पीकर पीटना जारी रहा। रुपयों की जरूरत पूरी करने के लिए पति ने देह व्यापार करने का दबाव बनाया। इंकार करने पर उसे कमरे में बंद करके जान से मारने का प्रयास किया। शोर सुनकर आए पड़ोसियों ने उसे बचाया। आरोपियों ने उसका बेटा छीनकर बेटी के साथ घर से निकाल दिया।

लोन कराकर पत्नी की सैलरी से कटवाई किस्त महिला ने बताया कि पति ने उसकी सैलरी पर 60 हजार रुपये का लोन ले लिया। जिसकी किस्त भी वह भरती रही। इसके बाद भी पति ने उसे वर्क पैलेस पर आकर उसे व उसके भाई के साथ मारपीट की। इस कारण उसकी नौकरी चली गई। उसकी बेटी बीमार रहती है। अब वह बीमार बेटी के साथ अपने मायके में रहने काे मजबूर है।

Advertisement