ये कैसा अमृत महोत्सव ? सरकारी कर्मचारी लगा रहे उलटे और फटे हुए तिरंगे

आज करनाल में देश का 75वां स्वतंत्रता दिवस मनाया जा रहा है वही दूसरी ओर करनाल जिला प्रशासन की तरफ से कुंजपुरा रोड के बाज़ार में अंदर झंडे लगवाए गए है। आसपास के दुकानदारों ने आरोप लगाया कि बाजार में लगे कई तिरंगे उल्टे लगा दिए गए है। दुकानदार कप्तान सिंह ने कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव मनाने की जल्दबाजी में जिला प्रशासन के कर्मचारी कहीं उल्टे तिरंगे लगा रहे है और कहीं फटे हुए तिरंगे लगाकर खानापूर्ति कर दी। इस दौरान ऐसे लगाए गए तिरंगों को दुकानदारों ने खुद तिरंगे सीधे करके लगाए और फटे हुए तिरंगे उतार दिए।

इस दौरान फास्ट मीडिया संवादाता ने लगाए गए झंडों को देखा तो उनमें बने अशोक चक्र भी गलत तरीके से प्रिंट हुए दिखाई दिए। आपको बता दें कि तिरंगे का साइज 3 अनुपात 2 में होना चाहिए लेकिन करनाल जिला प्रशासन ने सरकार द्वारा निर्धारित नियमो की पालना करने की जगह हर घर तिरंगा अभियान को अमिलजामा पहनाने के लिए जगह जगह तिरंगे लगवाएं लेकिन लोग इस बात का विरोध कर रहे है कि आखिर ये तिरंगे लगाते वक़्त तिरंगे का अपमान क्यों किया जा रहा है

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले इसी तरह दूध की एक थैली पर भी तिरंगे को प्रिंट कर दिया गया था जिसके बाद सोशल मीडिया पर इसकी कड़ी आलोचना हुई थी। फिलहाल इस तरह लगाए गए उल्टे तिरंगों को दुकानदारों ने सीधा करके लगा दिया है और फटे हुए तिरंगे उतार दिए है।

Advertisement