शादी के ढाई महीने में ऐसा क्या हुआ, पत्नी ने काट दिया पति का गला और फिर…

शादी के ढाई महीने बाद ही पल्ला इलाके के सूर्या विहार सेक्टर-91 इलाके में एक विवाहिता ने प्रेमी संग मिलकर पति की बेरहमी से हत्या कर दी। धारदार हथियार से गर्दन पर हमला कर हत्या की गई। खून से लथपथ शव को प्रेमी ने अपनी कार की डिग्गी में छुपाकर यूपी बागपत के जंगल में ले जाकर फेंक दिया। क्राइम ब्रांच सेक्टर-85  और पल्ला थाना प्रभारी के नेतृत्व में पुलिस टीम ने बागपत के जंगलों से शव बरामद कर लिया। पुलिस ने इस संबंध में महिला और प्रेमी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी प्रेमी को बागपत इलाके से गिरफ्तार कर लिया है। तीन दिन के रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है।

दिल्ली के सरायकाले खां निवासी रजत की शादी जून 2020 में बागपत इलाके के एक गांव में रहने वाली युवती से हुई। शादी के बाद रजत अपनी पत्नी व मां-बाप के साथ पल्ला थाना इलाके के सूर्या बिहार में किराए के मकान में रहने लगा। पुलिस के मुताबिक रजत की पत्नी का उसी इलाके के एक गांव में रहने वाले नरेंद्र नामक एक युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था। इसके चलते पत्नी अपने पति के साथ नहीं रहना चाहती थी। सचिन ने नौ सितंबर को पल्ला थाना पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उनका भाई रजत सुबह 7:00 बजे घूमने के लिए निकला था और अभी तक घर नहीं पहुंचा है। पुलिस ने इस संबंध में गुमशुदगी की रपट दर्ज कर परिजनों से पूछताछ की। प्राथमिक दृष्टया में पुलिस ने पाया कि यह मामला गुमशुदगी का नहीं है। इसके बाद पुलिस ने बारीकी से पूछताछ शुरू कर दी तो पत्नी संदेश के घेरे में आती चली गई।

कॉल डिटेल पर शक गहराया

पुलिस आयुक्त ओपी सिंह के निर्देश पर मामले की जांच क्राइम ब्रांच सेक्टर-85 प्रभारी सुमेर सिंह को सौंप दी गई। पल्ला थाना प्रभारी सतीश कुमार व क्राइम ब्रांच सेक्टर-85 की सयुंक्त टीम ने साइबर टीम की मदद से मोबाइल कॉल डिटेल समेत अन्य बिन्दुओं पर बारीकी से जांच करते हुए इस हत्याकांड की गुत्थी सुलझा ली। इसके बाद बागपत में छापामारी कर महिला के आरोपी प्रेमी 22 वर्षीय नरेंद्र निवासी गांव गोठड़ा बागपत को क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 ने गिरफ्तार किया है। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने बागपत के समीप से पति का शव बरामद किया। आरोपी महिला की तलाश की जा रही है। इसको भी जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

प्रेमी के साथ बनाई योजना

पत्नी ने अपने पति को रास्ते से हटाने के लिए प्रेमी के साथ योजना बनाई। 8-9 की रात को उसने अपने प्रेमी को फरीदाबाद बुला लिया। इससे पहले उसने अपने पति को नींद की गोलियां मिलाकर दूध पिला दिया। इससे उसका पति गहरी नींद में सो गया। इसके उपरांत आरोपी नरेंद्र ने धारदार हथियार से रात के समय जब रजत सो रहा था तब उसकी गर्दन में पर हमला कर हत्या कर दी। आरोपी ने बताया कि हत्या के दौरान रजत की पत्नी ने रजत के हाथ पकड़े थे। इससे उसका आधा गला कट गया। पत्नी और नरेंद्र ने मिलकर रजत की डेड बॉडी को पहले एक पॉलिथीन में बंद किया। उसके बाद ऊपर से चद्दर लपेटकर स्विफ्ट गाड़ी में रख कर आरोपी नरेंद्र ने मृतक रजत की डेड बॉडी को बागपत के खेकड़ा के गंदे नाले में ले जाकर डाल दी।

पढ़ते वक्त हुई दोस्ती प्रेम में बदली

पूछताछ पर आरोपी नरेंद्र ने बताया कि वह मृतक रजत की पत्नी मधु (बदला हुआ नाम) के साथ पढ़ता था। तभी से उन दोनों के बीच दोस्ती हो गई थी और दोस्ती प्यार में बदल गई थी। दोनों एक दूसरे के साथ शादी करना चाहते थे। मधु के घर वालों ने उसकी शादी फरीदाबाद सूर्य विहार सेक्टर 91 निवासी रजत के साथ कर दी थी। इससे वह बहुत उदास रहता था। आरोपी नरेंद्र प्रेमिका मधु से चोरी-छिपे फरीदाबाद मिलने के लिए भी आता था। इन सब बातों के बारे में रजत को नहीं पता था। मधु की शादी करीब तीन महीने पहले ही रजत के साथ हुई थी। रिमांड के दौरान हत्या के दौरान इस्तेमाल हथियार व गाड़ी बरामद की जाएगी।

Advertisement