1 हाथ में वैसाखी तो दूसरे से चलाते फावड़ा, बिना पैर के इस किसान की मेहनत के लिए शब्द हैं?

दो जून की रोटी सबको ऐसे ही नहीं मिल जाती है. इसके लिए संघर्ष करना पड़ता है और कितना संघर्ष करना पड़ सकता है, इसका उदाहरण ये किसान हैं. एक पैर से दिव्यांग ये किसान खेत में काम कर रहा है. वह एक हाथ से अपने सहारे की वैसाखी पकड़ा है तो दूसरे हाथ से फावड़ा.

इंडियन फॉरेस्ट अफसर मधु मिता ने एक वीडियो शेयर किया है. इसमें दिख रहा है कि किसान एक हाथ में वैसाखी लेकर और दूसरे में फावड़ा लेकर पानी से भरे अपने खेत में चल रहा है. इसके बाद वह फावड़े की सहायता से मेढ़ बना रहा है.

मिट्टी निकालने के लिए फरसा चलाते वक्त वह अपनी वैसाखी को वहीं टिका दिया है और दोनों हाथ से फावड़ा चला रहा है. वह मिट्टी निकालता है और मेढ़ बनाता है, जिससे खेत में लगा पानी वहां से बह के बाहर न निकले.

अफसर ने अपने वीडियो के साथ कैप्शन लिखा है, कोई भी शब्द इस वीडियो के साथ न्याय नहीं कर सकते… धन्यवाद

बता दें कि किसानों की स्थिति को लेकर समय-समय पर बात होती है. किसान आंदोलन करते हैं. लेकिन, हर बार टाल-मटोल होता है. जिस भारत को कभी कृषि प्रधान देश कहा जाता था, उस भारत के किसान की हालत बद से बदतर होती जा रही है.

लेकिन, इसके कुछ प्वाइंट्स पर किसान मुखर विरोध कर रहे हैं. केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने तो इस्तीफा तक दे दिया है. ऐसे में समझा जा सकता है कि स्थिति कितनी विकट है.

Advertisement