नौकरीपेशा लोगों के लिए जारी हुई अनलॉक 5 में नई गाइडलाइन, जानना बेहद जरूरी

नई दिल्‍ली। देश भर में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच 1 अक्‍टूबर से अनलॉक 5 आरंभ हो चुका है। श्रम मंत्रालय ने आफिस और इंडस्‍ट्रीज में कोरोना संक्रमण कर्मचारियों और श्रमिकों को बचाने के लिए नई गाइडलाइन जारी की है। इस गाइड लाइन को आपको लिए जानना बेहद आवश्‍यक हैं आपने इन नियमों के प्रति अनदेखी की तो इसका असर आपके अप्रेजल तक पर पड़ सकता हैं। श्रम मंत्रालय के दिशानिर्देशों में बताया गया है कि सोशल डिस्टेंसिंग और कंपनी के निर्देशों का पालन करना जरुरी होगा। इसलिए श्रम मंत्रालय द्वारा जारी की गाइडलाइन का आपको हर हाल में पालन करना होगा। जानिए क्या श्रम मंत्रालय की गाइडलाइन ?

बता दें जो श्रम मंत्रालय ने नई गाइडलाइन जारी की हैं। इस पर श्रम मंत्रालय से संबंधित Directorate General of Health Services (DGHS) ने सेफ वर्कप्लेस के लिए नई गाइडलाइंस तैयार की गई है।

श्रम मंत्रालय की इस गाइडलाइंस में कहा गया है कि सोशल डिस्टेंसिंग और कंपनी के निर्देशों का पालन जरूरी होगा। इस गाइडलाइन का पालन न करते हुए ऑफिस में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों को फॉलो नहीं करता है या लंच शेयर करने या फिर कंपनी के निर्देशों की अनदेखी करने वाले कर्मचारी का अप्रेजल तक रुक सकता है।

श्रम मंत्रालय की इस गाइडलाइन के अनुसार कंपनी का एचआर डिपार्टमेंट CCTV के जरिए कर्मचारियों पर नजर रखने के भी निर्देश दिए गए हैं। जो भी कर्मचारी नियमों का पालन ना करने पर अप्रेजल रुक सकता है।

श्रम मंत्रालय की ओर से जारी की गई गाइडलाइंस में प्राइवेट कंपनियों को भी निर्देश दिया गया है और इंडस्ट्री HR पॉलिसी में संशोधन करने के निर्देश दिए गए हैं। ये भी निर्देश दिया गया है कि सभी कर्मचारियों के लिए हेल्थ बीमा अनिवार्य किया जाए। इसके साथ ही आगे कहा गया है कि कोरोना के लिए कंपनियां Special Leave Policy तैयार की जाए। इसमें कंपनियों को नजदीकी अस्पताल से टाई-अप करने का भी निर्देश दिया गया है।

इसके साथ ही गाइडलाइन में सार्वजनिक वाहनों के बजाय कर्मचारियों को प्राइवेट वाहन या साइकिल का उपयोग करने का निर्देश दिया गया है। कंपनी को कर्मचारियों को आफिस के लिए अधिक से अधिक सीढ़ियों के उपयोग को प्रोत्साहित करने की सलाह दी गई है। लिफ्ट को इस्‍तेमाल करते समय 2 से 4 लोगों से अधिक की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

श्रममंत्रालय की गाइडलाइन में ये भी कहा गया है कि 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के मां-पिता अगर दोनों ही वर्किंग हैं तो उन्हें घर से काम की इजाजत मिलनी चाहिए। इसके अलावा 65 वर्ष से अधिक आयु वाले लोगों को वर्क फ्रॉम होम करने के प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। ऑफिस में पर्याप्त मात्रा में हैंड सैनिटाइजर और थर्मल स्क्रीनिंग को अनिवार्य किया गया है।

जिन कर्मचारियों को कंपनी द्वारा पिक एंड ड्राप की सुविधा दी गई है उन लोगों को पिक एंड ड्रॉप के दौरान ऐसी बस या दूसरे वाहन उपलब्ध कराएं जाने और बड़ी गाडि़यों को इस्‍तेमाल करने का निर्देश दिया गया है। कर्मचारियों को पिक एंड ड्राप करने वाले इन वाहनों की कुल क्षमता के तुलना में सिर्फ 30-40 फीसदी कर्मचारी को बैठाने का निर्देश दिया गया है ताकि सोशल डिस्‍टेसिंग का पालन हो सकें। पहले की तरह बस में कर्मचारियों को ठूंस कर भरने से सख्‍त मना किया गया है अगर ऐसा पाया जाता है तो संबंधित कंपनी के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की जाएगी।

Advertisement