बारहवीं पास हैकर्स ने की 3 करोड़ की ठगी

हरियाणा की गुरुग्राम पुलिस ने विदेशी फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़ करते हुए दो लोगों को गिरफ्तार किया है, जो विदेशी लोगों के सिस्टम को हैक करते थे और बाद में उन्हें ऑनलाइन ठीक करने के नाम पर मोटी रकम ऐंठते थे| हैरानी की बात ये है पुलिस की गिरफ्त में आए ये दोनों युवक सिर्फ 12वीं पास हैं|

दरअसल, गुरुग्राम पुलिस ने उद्योग विहार एरिया में चल रहे एक ऐसे ही कॉल सेंटर में छापेमारी की जो रात के समय में चलता था| टेक्नोलॉजी कंपनी के नाम से चल रहे इस कॉल सेंटर में करीब 50 लोग काम करते थे और अब तक 3 करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम ऐंठ चुके हैं|

सिस्टम को हैक कर भजते थे लिंक – गुरुग्राम पुलिस की मानें तो ये लोग पहले विदेशों में बैठ लोगों के सिस्टम को हैक करते थे और फिर एक लिंक भेजते थे जिस पर इनके कॉल सेंटर का नंबर होता था| इसके बाद वो लोग सिस्टम ठीक कराने के लिए इनसे संपर्क करते थे| इस तरह सिस्टम को ठीक करने के नाम पर ये लोग विदेशी मुद्राओं में ही मोटी रकम अपने अकाउंट्स में ट्रांसफर करवा लेते थे|

गुरुग्राम पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से कुछ लैपटॉप जब्त किए हैं, जिसमें कुछ महत्वपूर्ण जानकारी जांच टीम के हाथ लगी है| ये लोग इतने शातिर थे कि माइक्रोसॉफ्ट और गूगल कंपनी के लिंग भेज कर भी लोगों से पैसे ठगते थे| हैरानी की बात ये है कि इस कंपनी और फर्जी कॉल सेंटर को चलाने वाले ये दोनों ही आरोपी केवल 12वीं पास हैं, लेकिन इसके बाद भी आसानी से विदेशों में बैठे लोगों को चंद मिनटों में चपत लगा देते थे|

पढ़े-लिखे बेरोजगार युवाओं को चुनते थेये लोग साल 2019 से लगातार इस काम में लगे हुए हैं| सबसे पहले ये ऐसे पढ़े लिखे बेरोजगार युवाओं को अपने इस ऑनलाइन क्राइम के लिए चुनते थे जो इस काम में माहिर हो, लेकिन बेरोजगार हो| उसके बाद जब भारत में लोग सो रहे होते हैं, तब ये ऐसे देश को चुनते थे जहां दिन हो और लोग ऑनलाइन अपना काम कर रहे हो| इसके बाद शुरू होता था इन ऑनलाइन ठगों का सिस्टम हैक करने का काम| ये लोग तुरंत उस पर एक लिंक और टोल फ्री नंबर भेजते थे जिस पर संपर्क करने के पेड सर्विस के नाम पर मोटी रकम लेते थे|

बहरहाल गुरुग्राम पुलिस ने आरोपियों के उन तीन बैंक अकाउंट्स को सील करवा दिया है, जिनमें अभी 3 करोड़ रुपये विदेशी मुद्राओं में आए हैं| फिलहाल पुलिस जांच कर रही है कि अब तक ये अपराधी कितने लोगों को अपना शिकार बना चुके हैं और किन-किन देशों में इन लोगों ने ऑनलाइन लूट मचा रखी थी|

Advertisement