ट्रांसपोर्टरों ने इस कारण से पेट्रोल-डीज़ल की सप्लाई को अनिश्चितकाल के लिए किया बंद

जम्मू । जम्मू कश्मीर के ट्रांसपोर्टरों ने मांगें मनवाने के लिए सरकार के खिलाफ आर-पार की लड़ाई का एलान कर दिया है। यात्री वाहन चलाने की अनुमति देने, 50 फीसद यात्री किराया बढ़ाने सहित अन्य मांगों को लेकर वीरवार से जरूरी वस्तुओं की सप्लाई अनिश्चितकाल के लिए बंद रहेगी। इससे लखनपुर से कश्मीर तक टैंकर व ट्रक के माध्यम से होने वाली पेट्रोलियम पदार्थो और एलपीजी की सप्लाई बंद हो जाएगी।

ऑल जेएंडके ट्रांसपोर्ट वेलफेयर एसोसिएशन के चेयरमैन टीएस वजीर ने कहा कि लॉकडाउन से ट्रांसपोर्टरों को करोड़ों का नुकसान हुआ है। केंद्र सरकार ने भरपाई के लिए ट्रांसपोर्टरों को कोई भी वित्तीय पैकेज नहीं दिया। ट्रांसपोर्टरों की प्रमुख मांगों में यात्री किराया और मालभाड़े में 50 प्रतिशत की वृद्धि करने, ट्रांसपोर्टरों सहित ड्राइवरों और कंडक्टरों को राहत पैकेज देने, एक वर्ष के लिए ऋण पर लिए गए वाहनों की किश्त ब्याज सहित माफ करने के अलावा सभी टोल प्लाजा से टोल फीस माफ करना शामिल है।

प्रदेश के ट्रांसपोर्टर अपनी मांगें मनवाने के लिए अब सरकार के खिलाफ आर-पार की लड़ाई के मूड में हैं। यात्री वाहनों को चलाने की अनुमति प्रदान करने और 50 प्रतिशत यात्री किराया नहीं बढ़ाए जाने सहित अन्य मांगों के समर्थन में वीरवार से प्रदेश में आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई अनिश्चितकाल के लिए बंद करने का ऐलान किया है। इससे केंद्र शासित प्रदेश के प्रवेश द्वार लखनपुर से लेकर कश्मीर तक टैंकर और ट्रक के माध्यम से होने वाली पेट्रोलियम पदार्थों और एलपीजी की सप्लाई पूरी तरह से बंद हो जाएगी।

ऑल जेएंडके ट्रांसपोर्ट वेलफेयर एसोसिएशन के चेयरमैन टीएस वजीर ने बताया कि लॉकडाउन से ट्रांसपोर्टरों को करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है। केंद्र सरकार की ओर से इसकी भरपाई के लिए ट्रांसपोर्टरों को कोई भी वित्तीय पैकेज नहीं मिला। ट्रांसपोर्टरों ने अपनी मांगों मनवाने के लिए गत मंगलवार से क्रमिक भूख हड़ताल शुरू की लेकिन प्रशासन ने ट्रांसपोर्टरों को गिरफ्तार कर उनकी आवाज दबाने की कोशिश की है।

उन्होंने कहा कि अब ट्रांसपोर्टर किसी भी दबाव में आने वाले नहीं हैं। ऑयल जेएंडके ऑयल टैंकर ड्राइवर्स क्लीनर्स यूनियन सहित टैंकर आनर्स एसोसिएशन ने उन्हें समर्थन देने का ऐलान किया है। वीरवार से ट्रांसपोर्ट नगर नरवाल स्थित इंडियन ऑयल कोर्पोरेशन, हिन्दोस्तान पेट्रोलियम कोर्पोरेशन और भारत पेट्रोलियम के ऑयल डिपुओं से कोई भी ऑयल टैंकर पेट्रोलियम पदार्थों की ढुलाई नहीं करेंगे। इसके अलावा एफसीआई के गोदाम से ट्रकों के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न जिलों में अनाज सहित अन्य आवश्यक सामान की ढुलाई पूरी तरह से बंद कर दी जाएगी जबकि पानी के टैंकर पानी की सप्लाई भी नहीं करेंगे।

प्रदेश के उपराज्यपाल जीसी मुर्मू को समय-समय पर ट्रांसपोटर्र वर्ग को पेश आ रही दिक्कतों से रुबरू करवाया जा चुका है लेकिन बावजूद इसके उनकी मांगों को आज तक पूरा नहीं किया गया। ट्रांसपोर्टरों की जायज मांगों को अगर फिर भी सरकार ने नहीं माना तो फिर सोमवार को ट्रांसपोर्टरों का सब्र का बांध टूट जाएगा और फिर एक-एक कर अपने वाहन लेकर सड़कों पर उतर आएंगे। इससे आमजन को होने वाली परेशानियों के लिए सरकार और प्रशासन पूरी तरह से जिम्मेदार रहेगा।

Advertisement