हरियाणा का ये सरकारी स्कूल फाइव स्टार प्राइवेट स्कूलों को दे रहा मात, देखें तस्वीरें…

कुरुक्षेत्र. वैसे आम धारणा है कि सरकारी स्कूल का नाम सुनते ही लोगों के मन में स्कूल के कमरे की छत की टूटी कड़ी. खस्ताहाल टॉयलेट और मैदान में बड़ी-बड़ी घास की तस्वीर सामने आने लगती है. लेकिन अब ऐसा नहीं है. अगर किसी ने कुरुक्षेत्र जिला का राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय मुर्तजापुर में आकर देखा है तो निश्चित ही उसकी सरकारी स्कूलों के प्रति राय अवश्य बदलेगी.

इस स्कूल की आज वर्तमान स्थिति देखी जाये तो यह स्कूल सुविधाओं में ही नहीं, बल्कि शिक्षा और खेलों में भी कई प्राइवेट स्कूलों को मात दे रहा है

स्कूल के शिक्षकों का भी मानना है कि प्रिंसिपल वीरेंद्र वालिया की ऊंची सोच व मेहनत से स्कूल आज जिले के अति सुंदर एवं आधुनिक स्कूलों में से एक है. उन्होंने स्कूल में बच्चों की पढ़ाई या सिलेबस तक सीमित नहीं रखा. बल्कि स्कूल में बेहतर शिक्षा के साथ सुविधाओं पर भी बराबर ध्यान रखा है.

प्रिंसिपल वीरेंद्र वालिया ने बताया कि स्कूल के सभी अध्यापकों की एक कमेटी बनाई है. जिसमें वे समय-समय पर कमेटी की मीटिंग लेकर सुझाव लेते रहे हैं और बेहतर सुझावों को स्कूल में लागू करते रहे हैं. जिससे आज स्कूल का रिजल्ट प्राइवेट स्कूलों से बेहतर आ रहा है

वहीं सुविधाओं की ओर देखें तो भी स्कूल कई प्राइवेट स्कूलों को भी पीछे छोड़ रहा है. इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि स्कूल में आने वाले लोग इसे सरकारी स्कूल नहीं, बल्कि टॉप सिटी का फाइव स्टार प्राइवेट स्कूल कहते हैं.

वहीं स्कूल को ब्यूटीफिकेशन के लिए ब्लॉक व जिले स्तर पर इनाम मिल चुके हैं. वहीं पिछले दो वर्षों से बोर्ड क्लास का रिजल्ट भी 100 प्रतिशत आ रहा है. सरकारी व प्राइवेट स्कूलों में बच्चों में सामाजिक ज्ञान देने के लिए दीवारों पर स्लोगन लिखवाने पर ध्यान रहता है.

लेकिन इस स्कूल में स्लोगन की बजाय मैथ व साइंस फॉर्मूले, टेंस, संस्कृत, हिदी विषय से संबंधित चार्ट लगवाए गए हैं. बच्चे आते ही आधी किताब दीवारों पर पढ़ लेते हैं. अगर टीचर नहीं भी आए तो इतना कुछ दीवारों से पढ़ लेते हैं.

Advertisement