अधिकारियों को सजा-ए-मौत: चर्चा करने का ये घातक सबक, ऐसा है इस देश का नियम

नई दिल्ली: नॉर्थ कोरिया दुनियाभर में अजीबों-गरीबों कारनामों के जाना जाता है। अब नॉर्थ कोरिया से ये खबर मिली है कि इस देश ने अपने आर्थिक मंत्रालय के 5 अधिकारियों को कथित तौर पर मौत के मुंह में धकेल दिया। ऐसे में सामने आई रिपोर्ट्स में ये दावा किया गया है कि एक डिनर पार्टी में इन लोगों ने नॉर्थ कोरिया के शासक किम जोंग उन की नीतियों की आलोचना की थी। जिसके चलते बताया जा रहा है कि 30 जुलाई 2019 को ही इन अधिकारियों को गोलियों से भून दिया गया था।

अर्थव्यवस्था की चर्चा

सूत्रों से मिली रिपोर्ट्स के अनुसार, आर्थिक मंत्रालय के 5 अधिकारी खुलकर नॉर्थ कोरिया की बदहाल इकोनॉमी जीं हां मतलब की नीचे गिरती अर्थव्यवस्था की चर्चा कर रहे थे। इस दौरान ऐसा कहा जा रहा है कि इन अधिकारियों के परिवार के लोगों को योडेओक के एक राजनीतिक कैंप में भेज दिया गया।

आपको बता दें कि गौर करने वाली बात तो ये है कि नॉर्थ कोरिया की आर्थिक स्थिति काफी खराब है। ये भी कहा जा रहा है कि कोरोना वायरस की वजह से भी देश के हालात पर बुरा असर पड़ा है। वहीं नॉर्थ कोरिया की गिनती दुनिया के सबसे गरीब देशों में होती है।

साथ ही ये भी कहा जा रहा है कि डिनर पार्टी में किम जोंग उन की नीतियों की आलोचना करने वाले अधिकारियों के बारे में पहले उनके बॉस को पता चला। फिर इसके बाद उन्हें एक मीटिंग के लिए बुलाया गया और फिर सीक्रेट पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। इन सबके बाद उन्हें गुनाह कबूल करने पर मजबूर किया गया।

अंतरराष्ट्रीय जगत से सहयोग लेने की बात

ऐसा कहा जाता है कि आर्थिक मंत्रालय के ये अधिकारी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए इंड्रस्ट्रियल रिफॉर्म की जरूरत बता रहे थे और अंतरराष्ट्रीय जगत से सहयोग लेने की बात भी कह रहे थे।

चिंता वाली बात ये है कि नॉर्थ कोरिया अब भी कई तरह के आर्थिक प्रतिबंधों का सामना कर रहा है। कुछ ही दिन पहले यह भी खबर आई थी कि किम जोंग उन ने फायरिंग स्क्वॉयड के जरिए ही अपने चाचा को भी मौत में मुंह में धकेल दिया था।

Advertisement