हरियाणा रोडवेज बसों में जल्द शुरू होगी यह सुविधा, सभी डिपो के अधिकारियों को मुख्यालय बुलाया

हरियाणा रोडवेज के परिचालकों को शीघ्र ही ई-टिकटिंग के लिए मशीनें उपलब्ध होंगी। मशीनों के लिए रोडवेज कर्मचारी पिछले काफी समय से मांग करते आ रहे थे। निदेशालय के पत्र के अनुसार 18 जनवरी को अंबाला, चरखी-दादरी, दिल्ली, फतेहाबाद, गुरुग्राम और हिसार डिपो, 19 जनवरी को जींद, झज्जर, कुरुक्षेत्र, कैथल, नारनौल और नूंह डिपो और 20 जनवरी को पलवल, पंचकूला, रोहतक, रेवाड़ी, पानीपत और यमुनानगर डिपो के अधिकारियों को रूट, परमिट और सभी रूटों की किराया सूची के साथ मुख्यालय में सुबह साढ़े नौ बजे पहुंचना होगा। यहां पर डिपो वाइज किराया सूची का क्रॉस मिलान किया जाएगा और इसे मशीन में फीड किया जाएगा।

रोडवेज विभाग ने ई-टिकटिंग योजना पर संज्ञान लिया है और हरियाणा राज्य परिवहन के निदेशालय ने ई-टिकटिंग मशीनों में किराया फीड करने को लेकर 18, 19 और 20 जनवरी को अलग-अलग डिपो के ट्रैफिक मैनेजर, उनके सहायकों को मुख्यालय बुलाया है। यहां पर सभी डिपो की आपस में किराया सूची का क्रॉस मिलान कर इसे ई-टिकटिंग मशनी में फीड किया जाएगा। ई-टिकटिंग मशीनों के आने से परिवहन विभाग का भी लाखों रुपए का टिकट छपाई का खर्च बचेगा।

वहीं परिचालकों को ई-टिकटिंग मशीन मिलने के बाद परिचालक भी फर्जीवाड़ा नहीं कर पाएंगे। हरियाणा कर्मचारी महासंघ के पूर्व प्रदेश मुख्य संगठन सचिव अनूप लाठर ने बताया कि कोरोना काल में यह मशीनें परिचालकों के लिए संक्रमण को फैलने से रोकने में मददगार साबित हो सकती हैं। परिचालकों की सुविधा के लिए जल्द से जल्द मशीनें उपलब्ध करवाई जाएं। 19 जनवरी को भेजा जाएगा मुख्यालय : जीएम जींद डिपो के महाप्रबंधक गुलाब सिंह दूहन ने बताया कि मुख्यालय के आदेश मिले हैं। आदेशों के तहत जींद डिपो प्रबंधन को 19 जनवरी को मुख्यालय बुलाया गया है। आदेशों की पालना करते हुए डिपो की यातायात शाखा से कर्मचारियों को 19 जनवरी को भेजा जाएगा।