करनाल की ये नहर बनेगी पिकनिक स्पॉट, बोटिंग और लेज़र पार्क बनेगे खास

Advertisement

------------- Advertisement -----------

पानीपत/करनाल । स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत शहर करनाल को बदलने की कवायद शुरू हो गई। इसमें एक अहम निर्णय और सामने आ रहा है। कभी पश्चिमी नहर के किनारे जाने से लोग कतराते थे, उसी नहर के किनारों को अब पिकनिक स्पॉट के रूप में विकसित करने का निर्णय लिया गया है। इसके कांसेप्ट पर काम शुरू कर दिया गया है। इसके साथ ही कर्ण लेक को हाइवे के प्रमुख टूरिस्ट हब के रूप में विकसित करने की दिशा में भी कदम उठा दिए गए हैं। आइए, जानते हैं कैसा होगा नहर और लेक का भविष्य में स्वरूप।

देखते ही होश खो देंगे नहर किनारे

Advertisement

पश्चिमी यमुना नहर के किनारे को पिकनिक स्पॉट का जो प्लान तैयार किया जा रहा है, जब वह हकीकत का रूप लेगा तो पहली बार इस स्थल को देखने वाला दंग रह जाएंगे। प्लानिंग है कि करीब एक किलोमीटर लंबे स्थल पर वाई-फाई, जोगिंग स्टेशन व लेजर पार्क बनाया जाएगा। योगा डेस्क, वॉकिंग स्ट्रीट व पार्क होगा। बोटिंग की सुविधा लुभाएगी। बच्चों के लिए मनोरंजन जोन बनेगा। खाने-पीने के लिए वेंडर जोन, फैंसिंग व लाइट की सुविधा होगी। महाभारत की थीम पर मूर्तिकला पर काम किया जाएगा। इस प्रोजेक्ट में साबरमती रिवर फ्रंट से भी आइडिया लिए जाएंगे।

हो जाएगा कर्ण लेक का कायाकल्प

कर्ण लेक को टूरिस्ट हब बनाने के कांसेप्ट प्लान के तहत ड्राइंग बनाई गई है। कर्ण लेक के विजन में यह जगह नेशनल हाइवे से सटी है और इसके पास पर्यटन विभाग का रिसोर्ट भी है। झील के चारों ओर आराम दायक पैदल पथ बनाया जाएगा। स्थल की लैंड स्केपिंग कर यहां ओपन जिम, साइकलिंग ट्रैक बनेगा। बोटिंग, म्यूजिकल फाउंटेन व थीम पार्क होगा। जोगिंग ट्रैक, छोटे-छोटे आयोजन या फेस्टिवल के स्थलों का विकास होगा। बच्चों का पार्क जैसे कार्य किए जाएंगे। करनाल शहर से इसकी कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए बलड़ी बाइपास पर स्थित श्रीमद्भगवद गीता द्वार से कर्ण लेक टर्निंग प्वाइंट तक सड़क का सौंदर्यीकरण किया जाएगा। सड़क पर लाइट व साइनेज लगाए जाएंगे। कर्ण लेक को जाने वाले रास्ते पर एक भव्य द्वार बनाया जाएगा। इसके लिए बलड़ी बाईपास तक बनाई गई वॉकिंग स्ट्रीट को कर्ण लेक तक ले जाने की संभावना भी है।

Advertisement