हरियाणा के इन 5 जिलों में होंगे डिप्टी मेयर और सीनियर डिप्टी मेयर के चुनाव

Advertisement

------------- Advertisement -----------

पानीपत । शहरी स्थानीय निकाय विभाग ने डिप्टी मेयर और सीनियर डिप्टी मेयर के चुनाव में हो रही लेटलतीफी पर संज्ञान लिया है। पांच नगर निगमों के आयुक्त को पत्र जारी कर जल्द से जल्द चुनाव कराने के निर्देश दिए हैं। 17-18 महीने से ये चुनाव लंबित है। पांच जिलों में अकेले मेयर के कंधों पर ही शहर का विकास कार्य चल रहा है।

पानीपत, करनाल, रोहतक, यमुनानगर व हिसार में मेयर व पार्षदों के चुनाव 16 दिसंबर 2018 को कराए गए। राज्य निर्वाचन आयोग की तरफ से 27 दिसंबर 2018 को नोटिफिकेशन (रुल 71-2 के तहत) जारी कर 60 दिनों के भीतर सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर के चुनाव कराने के निर्देश दिए गए। इस चुनाव में मेयर सहित सभी निर्वाचित पार्षदों को शामिल किया जाना था। बैठक आयोजित कर 48 घंटे के नोटिस पर शहर के निर्वाचित पार्षदों में से इन दोनों महत्वपूर्ण पदों को भरा जाना था। 25 फरवरी 2019 तक यह तक प्रक्रिया पूरी नहीं की गई। राजनीतिक पेंच में फंस कर यह बार बार टलती गई। कोरोना संक्रमण के चलते चार माह और विलंब हो गया।

Advertisement

शहरी स्थानीय निकाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव ने इस बारे में पांच निगम आयुक्तों को पत्र (एडीयूएलबी/एडमिन/2020/39577) लिख कर आगाह किया है कि डिप्टी मेयर व सीनियर डिप्टी मेयर के चुनाव में देरी होना म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन इलेक्शन रुल 2018 का उल्लंघन है। प्राथमिकता के आधार पर इन पांचों जिलों में इन दोनों पदों की चुनाव प्रक्रिया जल्द से जल्द शुरू की जाए। पत्र में दिए ईमेल आइडी पर इसकी रिपोर्ट भेजना भी सुनिश्चित करें। पत्र की प्रति विभाग के प्रधान सचिव सहित निर्वाचन आयोग के उपनिदेशक को भेज दी गई है।

राजनीतिक दांव पेंच चलेगा

इन पांचों शहरों में जहां भाजपा की पकड़ मजबूत है वहां डिप्टी व सीनियर डिप्टी मेयर के चुनाव में ज्यादा उठा पटक नहीं होगा। हालांकि सब अपनी अपनी दावेदारी तो करेंगे। सत्ताधारी दल के जनप्रतिनिधि अपनी गोटियां फिट करने में कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ेंगे। चुनाव में देरी होने का यही कारण है।

Advertisement