हरियाणा: तीन कोच व दो महिला पहलवान की गोली मारकर हत्याकांड मामले मे हत्यारे पर इतने लाख का इनाम

रोहतक। हरियाणा के रोहतक में शुक्रवार रात पांच लोगों की हत्या के मामले में दो आरोपियों पर केस दर्ज किया गया है। पुलिस ने हत्यारे की सूचना देने वाले को एक लाख का ईनाम घोषित किया है।  दो आरोपियों के खिलाफ आर्म्स एक्ट और आईपीसी के तहत पीजीआईएमएस रोहतक में एफआईआर दर्ज की गई।

आरोपी सुखविंदर सिंह।

प्राथमिकी में कहा गया है कि आरोपी कोच को महिला पहलवान के परिवार की शिकायत के बाद अखाड़े मे आने से मना किया गया था।  आरोपी महिला पहलवान पर शादी का दबाव बना रहा था और उसकी शिकायत से नाराज होकर उसने इस हत्याकांड को अंजाम दे डाला।

जाट कॉलेज अखाड़े में आने वाली महिला खिलाड़ी पूजा के परिजनों ने कोच मनोज से सुखविंद्र की शिकायत की थी। मृतक कोच मनोज के भाई प्रमोज के अनुसार पांच दिन पहले पूजा ने अपने परिवार से सुखविंद्र की शिकायत की थी। शिकायत में बताया था कि सुखविंद्र उसे परेशान कर रहा है और उस पर शादी का दबाव बना रहा है।

परिवार ने यह शिकायत कोच मनोज से की। इस शिकायत के बाद मनोज ने सुखविंद्र को अखाड़े में आने से मना कर दिया था। इसी बात की रंजिश में सुखविंद्र ने वारदात को अंजाम दे दिया।

पीजीआईएमएस थाना पुलिस को दी शिकायत में प्रमोज कुमार ने बताया कि उसका बड़ा भाई मनोज कुमार जाट कॉलेज रोहतक में डीपी था। भाभी साक्षी मलिक रेलवे में कार्यरत थी। भाई अपने तीन साल के बेटे सरताज के साथ देव कॉलोनी में रहते थे। मनोज जाट कॉलेज अखाड़े में सुबह शाम कुश्ती के खिलाड़ियों को प्रशिक्षण दिया करता था।

शुक्रवार शाम करीब छह बजे वह अभ्यास कराने के लिए अपनी पत्नी व बच्चे के साथ जाट कॉलेज अखाड़े में आया था। भाभी साथ में अपने गेम की प्रैक्टिस कर रही थीं और बेटा सरताज भी उनके था। सुखविंद्र निवासी बरोदा और सतीश कुश्ती का प्रशिक्षण दे रहे थे।

रात करीब आठ बजे सूचना मिली कि सुखविंद्र कोच ने अखाड़े में अपने साथियों के साथ आकर गोलियां चला दी हैं।  वह तुरंत मौके पर पहुंचा तो पता लगा कि उसके भाई-भाभी की मौत हो गई है और भतीजा सरताज घायल है।

इसके अलावा खिलाड़ी पूजा, कोच सतीश, प्रदीप उर्फ फौजी (खिलाड़ी) की मौत हो चुकी है। अमरजीत (कोच) घायल है। प्रमोज के अनुसार आरोपी सुखविंदर ने योजनाबद्ध तरीके से अपने साथियों के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया है।

किसी ने सपने में भी नहीं सोचा होगा कि जिन हाथों से कोच सुखविंदर कुश्ती के दाव-पेंच सिखाता है एक दिन उन्हीं हाथों में हथियार थाम लेगा और चंद सेकेंड में ही कई परिवारों को उजाड़कर रख देगा।

जिस तरीके से हत्याकांड को अंजाम दिया गया है उससे माना जा रहा है कि आरोपी के पास अत्याधुनिक हथियार हो सकता है। फिलहाल पुलिस इस तथ्य पर भी जांच कर रही है, आखिर आरोपी के पास कौन सा हथियार था।

नृशंस हत्याकांड के बाद पीजीआईएमएस में भी भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। देर रात वहां पर अतिरिक्त पुलिस बल बुलाया गया। इसके अलावा जाट कॉलेज के अखाड़े और मेहर सिंह अखाड़े पर भी पुलिस की पीसीआर तैनात की गई है।

पुलिस को डर है कि आरोपी अभी फरार चल रहा है, कहीं वह अन्य किसी वारदात को अंजाम न दे दें। रोहतक के एसपी राहुल शर्मा ने कहा कि पांच लोगों की हत्या हुई है। आरोपी फरार हो गया है। तलाश में टीमें जुटाई गई हैं। घटना के पीछे अखाड़े से आरोपी को निकालने का मामला बताया गया है। आरोपी के गिरफ्तार होने पर घटना का पर्दाफाश किया जाएगा।

हालत गंभीर होने पर घायल मेहर सिंह अखाड़े के कोच अमरजीत को गुरुग्राम रेफर कर दिया गया, जबकि कोच मनोज और साक्षी के तीन साल के बेटे सरताज को पीजीआईएमएस के आईसीयू में भर्ती कराया गया है। दोनों घायलों की हालत चिंताजनक बनी हुई है।

Advertisement