हरियाणा का खुला एकमात्र स्कूल, क्लास रूम में जाने से पहले करना होगा कुछ ऐसा

करनाल के निगदू स्थित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में शनिवार काे प्रायोगिक रूप से बोर्ड की कक्षाएं लगनी शुरू हो गईं। यहां इस कार्य की वीडियो शूट की जा रही है, जिसके तहत पड़ोसी जिले कुरुक्षेत्र स्थित अध्यापकों के आवास से निगदू में विद्यालय तक के आगमन की प्रक्रिया को भी फिल्माया गया है। इसी क्रम में विद्यालय में आने के लिए विद्यार्थियों को पूर्वाह्न 11 बजे का समय दिया गया, जिसके अनुरूप वे यहां आने शुरू हो गए हैं।

कोरोना संकट के बीच हरियाणा का खुला एकमात्र स्‍कूल, क्‍लास रूम में जाने से पहले करना होगा कुछ ऐसा

कोरोना संकट के बीच हरियाणा का खुला एकमात्र स्‍कूल, क्‍लास रूम में जाने से पहले करना होगा कुछ ऐसा

इस दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सभी प्रकार की हिदायतों का बेहद बारीकी से अनुपालन सुनिश्चित कराया जा रहा है। हर विद्यार्थी के हाथ धुलवाने और सैनिटाइज कराने के साथ मास्क लगाने तथा शारीरिक दूरी का ध्यान रखने पर भी शिक्षा विभाग के अधिकारियों का पूरा फोकस है। स्कूल में इस पूरी प्रक्रिया की वीडियो फिल्म बनाने में प्रोजेक्ट आफ‍िसर प्रमोद कुमार के साथ विद्यालय के प्रधानाचार्य और अन्य स्टाफ भी सक्रिय सहभागिता कर रहे हैं।

बोर्ड के विद्यार्थियों की लग रही कक्षा

उल्लेखनीय है कि हाल में ही शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार चयनित किए गए हरियाणा के दो राजकीय विद्यालय में बोर्ड की कक्षाओं के बच्चों को बुलाकर उन्हें शिक्षा देने की मंजूरी दी गई है। इसके तहत करनाल जिले के गांव निगदू का राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय भी शामिल है। इसके तहत यहां दसवीं और बारहवीं कक्षा के बच्चों को बुलाकर उनकी कक्षाएं लगाई जा रही हैं। विभाग द्वारा इस पूरी प्रक्रिया की वीडियो फिल्म बनाकर पूरे प्रदेश में अन्य विद्यालयों को दिखाई जाएगी, जिसके अनुसार बच्चों का विद्यालय में प्रवेश करवाया जाएगा।

संक्रमण से बचाव को पहने मास्क

विद्यालय के प्रधानाचार्य धर्मपाल ने बताया कि घर से बच्चे निर्धारित यूनिफार्म पहनकर और मुंह पर मास्क लगाकर विद्यालय में प्रवेश कर रहे हैं तो वहीं विद्यालय के मुख्य द्वार पर उनका थर्मल स्क्रीनिंग से तापमान जांचने के बाद ही उन्हें अंदर भेजा जा रहा है। विद्यार्थी जैसे विद्यालय में प्रवेश करते हैं तो उनके हाथ व पैर सेनिटाइज किए जाने पर बारीकी से ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा विद्यालय में हर कमरे व मुख्य जगह पर वॉश बेसिन की सुविधा दी गई है ताकि विद्यार्थी वहां भी अपने हाथों को साबुन से अच्छी तरह साफ कर सकें। उन्होंने बताया कि विद्यालय में हर जगह पर कोरोना वायरस के बचाव के लिए जागरूकता बोर्ड लगाए गए हैं।

Advertisement