इस राज्य की सरकार देगी 2500-2500 कैश प्रति व्यक्ति, मुफ्त में चावल, चीनी, काजू, इलायची और कपड़े….

तमिलनाडु में इस साल विधानसभा चुनाव होने वाला है, वहीं पोंगल का त्यौहार भी आने वाला है। उससे पहले वहां की पलानीस्वामी सरकार प्रदेश के 21 करोड़ लोगों को 2500-2500 कैश, मुफ्त में चावल, चीनी, काजू, इलायची और कपड़े देने जा रही है। सरकार का कहना है कि 14 जनवरी को पोंगल है। उससे पहले यह उपहार के रूप में बांटा जा रहा है।

हालांकि विपक्ष इसका पुरजोर विरोध कर रहा है। पोंगल गिफ्ट बांटने की शुरुआत आज से ही की गई है। राज्य में जिन-जिन लोगों के पास Rice card है, उन्हें इसका फायदा मिल रहा है। सरकार के मंत्री कह रहे हैं कि कोरोना के कारण लोगों की परेशानी काफी बढ़ गई है। पिछले साल उन्होंने निवार और बुरेवी चक्रवात का भी सामना किया है।

उनके सामने खाने के संकट पैदा हो गए हैं। ऐसे में सरकार ने पोंगल जैसे त्योहार पर गिफ्ट के रूप में अनाज और कैश देने का फैसला किया है। इसका आगामी विधानसभा चुनाव से कोई लेना-देना नहीं है।

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने 21 दिसंबर 2020 को ऐलान किया था की पोंगल गिफ्ट के रूप में सरकार इस साल 5605 करोड़ रुपये खर्च करेगी। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी और दो साइक्लोन का सामना करने के बाद प्रदेश के किसानों की माली हालत बिगड़ गई है। रंगराजन कमिटी ने अपनी रिपोर्ट में साफ-साफ कहा है कि इस साल किसानों और मजदूर वर्ग के अन्य लोग पोंगल मनाने की स्थिति में नहीं हैं।

कमिटी रिपोर्ट के आने के बाद ही सरकार ने पोंगल गिफ्ट बांटने का फैसला किया है। मुफ्त में अनाज बांटने का काम शुरू हो चुका है। सरकार की तरफ से घोषणा के बाद फेयर प्राइस शॉप कार्ड होल्डर को कूपन बांटने में जुट गया है। राशन दुकान के सामने भीड़ नहीं लगे, इसलिए कार्ड होल्डर के घर कूपन पहुंचाए जा रहे हैं। एक दिन में सुबह और शाम मिलाकर कुल 200 कूपन बांटे जाते हैं। पोंगल गिफ्ट बांटने में सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा जा रहा है

Advertisement