जल जीवन मिशन के तहत करनाल जिला में सर्वे का कार्य जोरों पर !

इंडिया ब्रेकिंग/करनाल रिपोर्टर(सिमरजीत कौर) जल जीवन मिशन के तहत करनाल जिला में सर्वे का कार्य जोरों पर, अगामी 2022 तक सभी ग्रामीण हाऊसहोल्ड को नल द्वारा पेयजल पहुँचाने का लक्ष्य। अतिरिक्त उपायुक्त की अध्यक्षता में हुई बैठक में की गई समीक्षा। देश के हर घर में पाईप के जरिए जल पहुँचाने को लेकर प्रधानमंत्री के जल जीवन मिशन पर हरियाणा के करनाल जिला में बड़ी तेजी से काम हो रहा है। मिशन का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले सभी हाऊसहोल्ड को शुद्घ पानी की उपलब्धता करवाने के साथ-साथ जल का संरक्षण करना भी है। केन्द्र सरकार की ओर से आगामी 2024 तक लक्ष्य को पूरा किया जाना है जबकि हरियाणा में इसे 2022 तक पूरा करने के  प्रयास जारी हैं।

मंगलवार को अतिरिक्त उपायुक्त अनिश यादव की अध्यक्षता में जल जीवन मिशन के तहत जिला वॉटर एवं सीवरेज मिशन की दूसरी बैठक आयोजित हुई। बैठक में जन स्वास्थ्य विभाग के कार्यकारी अभियन्ता अशोक खण्डुजा ने अतिरिक्त उपायुक्त को अवगत कराया कि करनाल जिला में 383 पंचायतों में सभी हाऊसहोल्ड को नल द्वारा पेयजल पहुँचाया जाएगा। इसके लिए हाऊसहोल्ड को नियमित कनेक्शन लेना होगा। विभाग की ओर से इस कार्य में डेवल्पमेंट चार्जिज या रोड कट के नाम पर हाऊसहोल्ड से कुछ भी नही लिया जा रहा, मात्र 500 रूपये की कनेक्शन फीस ली जाएगी। ग्रामीण उपभोक्ता यदि इसे भी देने में असमर्थ हो तो कनेक्शन नियमित करने के बाद उसके मासिक बिल मे हर महीने 10 रूपये अतिरिक्त जोड़कर, 500 रूपये पूरे कर लिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि जहां पाईप लाईन नही है, वहां पाईप लाईन भी दी जाएगी। जिला में कनेक्शन देने का कार्य अगामी 30 जून 2022 तक पूरा करना है।।

कार्यकारी अभियन्ता ने बताया कि कनेक्शन देने के कार्य के लिए गांवों में विलेज वॉटर एंव सीवरेज कमेटी  गठित करने का कार्य पूरा हो गया है। कुल 383 पंचायतों में यह कमेटियां बनाई गई हैं। कमेटी के अध्यक्ष गांव के सरपंच व सदस्य के तौर पर एक महिला पंच, ग्राम सचिव तथा गांव की कुछ अन्य मोजिज महिलाओं को शामिल किया गया है। कमेटी का कार्य हाऊसहोल्ड का सर्वे करना और उसके घर तक पानी पहुँचाने के कार्य में मदद करना है। जिला में अब तक करीब 60 प्रतिशत सर्वे पूरा कर लिया गया है। इसके लिए जन स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी व सक्षम युवाओं को लगाया गया है। किए गए सर्वे की प्रगति रिपोर्ट विभाग की वेबसाईट पर रेगूलर अपलोड की जा रही है।

कार्यकारी अभियन्ता ने बैठक में एडीसी को बताया कि जिला मे कुल 1 लाख 92 हजार हाऊसहोल्ड है। इनमें से कुछ ऐसे है जिन्होंने गैर कानूनी तरीके से कनेक्शन लिए हुए है, अब ऐसे कनेक्शनों को नियमित किया जाएगा और अगामी 31 मार्च तक ऐसे 25 हजार 480 कनेक्शन नियमित करने का लक्ष्य है। अब तक 9 हजार नियमित भी कर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि सर्वे का कार्य निपटा लेने के बाद कनेक्शन देने के लिए जन स्वास्थ्य विभाग की ओर से एस्टीमेट बनाए जाएंगे और उनके आधार पर सरकार से धन राशि प्राप्त की जाएगी।

Advertisement