हरियाणा सरकार की अजब पहल, धार्मिक स्थल से सुबह इतने बजे अनाउंसमेंट कर जगाए जाएंगे छात्र

चंडीगढ़। हरियाणा में 10वीं और 12वीं के छात्रों को रोज सुबह पढ़ने के लिए मंदिर, मस्जिद और गुरुद्वारों से अनाउंसमेंट करके जगाया जाएगा। बोर्ड परीक्षाओं में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए शिक्षा विभाग ने ये नया तरीका खोजा है। सुबह 4:30 बजे धार्मिक स्थलों से अनाउंसमेंट करके छात्रों को जगाया जाएगा। सुबह 5:15 पर हर छात्र को पढ़ाई शुरू करनी होगी। उसके बाद व्हाट्सएप के माध्यम से शिक्षक निगरानी रखेंगे कि कौन सा छात्र अभी तक उठा है या नहीं।

शिक्षा विभाग की योजना है कि इससे छात्र सुबह ढाई से तीन घंटे पढ़ाई कर सकेंगे। शुरुआत में ये योजना 10वीं और 12वीं बोर्ड कक्षाओं के लिए बनाई गई है। खास बात ये है कि इस बार 10वीं और 12वीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्रों को शीतकालीन छुट्टियां नहीं मिलेंगी। छात्रों की सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे तक कक्षाएं लगेंगी। बच्चे समय पर उठें और पढ़ें, यह चेक करने की ड्यूटी टीचर्स को सौंपी जाएगी। वाॅट्सएप ग्रुप में वे चेक कर सकेंगे कि कितने बच्चे पढ़ रहे हैं। विभाग का तर्क है कि पढ़ाई के लिए सुबह का समय सबसे उपयुक्त है। उस समय मस्तिष्क तरो ताजा होता है। सुबह ढाई से तीन घंटे पढ़ाई की योजना तैयार की है। इस बारे में पत्र जारी किया गया है। शुरुआत में यह योजना बोर्ड कक्षाओं 10वीं व 12वीं के लिए बनाई है।

हर विषय के अध्यापक अपनी कक्षा के विद्यार्थियों को तीन समूहों में बांटकर तैयारी कराएंगे। पहले में मेरिट लेने में सक्षम विद्यार्थी। दूसरे में 50% से अधिक अंक लेने वाले व तीसरे समूह में 33% अंक लेकर पास होने वाले विद्यार्थी रखे जाएंगे। स्कूलों में हाजिरी बढ़ाने के लिए अब टीचरों को अभिभावकों से मिलना होगा। स्कूल मुखिया, कक्षा प्रभारी अध्यापक तुरंत माता-पिता से बात करेंगे। एसएमसी की बैठक कर अभिभावकों तक पहुंचेंगे या संदेश भेजेंगे। अंग्रेजी, गणित व विज्ञान विषय पर ज्यादा फोकस किया जाएगा।

वहीं नव चयनित पंचायत सदस्यों से शिक्षा विभाग आह्वान करेगा कि पूरे गांव में सुबह-सुबह पढ़ाई का वातावरण बनाएं। इसके तहत सुबह धार्मिक स्थलों से अनाउसमेंट की जाएगी कि विद्यार्थी उठ जाएं और पढ़ाई में लग जाएं। इससे विद्यार्थियों को पढ़ाई के रोज 2 से 3 घंटे अतिरिक्त मिलेंगे. शिक्षा विभाग के मुताबिक इस साल हरियाणा बोर्ड परीक्षा के लिए कक्षा 10वीं में करीब 1.95 लाख और 12वीं में 1.75 लाख परीक्षार्थी हैं।

Advertisement