करनाल के SP सुरेंद्र सिंह भौरिया ने लिखा IG भारती अरोड़ा को पत्र। प्रताप स्कूल मामले की जांच अन्य जिले की पुलिस से करवाने की मांग

करनाल : हाइप्रोफाइल दुष्कर्म मामले में नित नए पेंच सामने आ रहे हैं। इस मामले में दोनों पक्षों की ओर से रखे जा रहे तथ्यों के बीच एसपी सुरेंद्र भौरिया ने आइजी भारती अरोड़ा को पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने इस मामले की जांच किसी दूसरे जिले की पुलिस से करवाने की सिफारिश की है। एसपी ने पत्र में स्पष्ट किया है कि दोनों पक्ष एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं तो वहीं इस मामले में कई ऑडियो सिलसिलेवार ढंग से मीडिया के सामने जारी किए जा रहे हैं, जबकि ये ऑडियो जांच के दौरान पुलिस को नहीं दिए गए।

एसपी ने आइजी को लिखे पत्र में कहा कि पुलिस ने महिला की शिकायत पर आरोपित स्कूल संचालक अजय भाटिया व अन्य के खिलाफ छह जुलाई को केस दर्ज किया था। इस मामले की जांच के लिए एसआइटी गठित की गई। इसके बाद अजय भाटिया की शिकायत पर महिला के खिलाफ 21 अगस्त को केस दर्ज किया गया। इन मामलों की जांच निष्पक्षता से आगे बढ़ाई गई। अब इस मामले में कई ऑडियो सामने आ रहे हैं।

जबकि ये ऑडियो जांच के दौरान एसआइटी के सामने पेश नहीं किए गए और अब इन्हें सोशल मीडिया पर जारी किया जा रहा है। दूसरी ओर ऑडियो जारी करने के मामले में पुलिस ने नोटिस दिए हैं। पुलिस ने महिला व विधायक के पुत्र शिव गोंदर को नोटिस जारी किया है। -महिला ने दी थीं दो ऑडियो क्लिप

शनिवार को महिला ने सोशल मीडिया को दो ऑडियो क्लिप दी थीं। एक को लेकर महिला का दावा है कि इसमें जिस पुरुष की आवाज सुनाई दे रही है, वह विधायक का पुत्र शिव गोंदर है। इसमें यह भी कहा जा रहा है कि इस मामले में पुलिस के पास 25 से 30 लाख रुपये पहुंच चुके हैं। जबकि दुष्कर्म मामले के आरोपित तहसीलदार राजबक्श के सीएम से अच्छे संबंध है। इन बातों का हवाला देकर महिला को समझौते की ओर इशारा किया जा रहा है। जबकि महिला कहती है कि उसे न्याय चाहिए। करनाल पुलिस करेगी जांच में पूरा सहयोग: एसपी

एसपी भौरिया का कहना है कि इस मामले में जांच को लेकर आइजी को पत्र लिखा गया है। अब तक इस मामले में निष्पक्ष जांच की गई है। जांच में किसी तरह की न ढील दी गई और न ही कोई भेदभाव किया गया है। इस मामले की जांच किसी अन्य एजेंसी से करवाई जाती है तो करनाल पुलिस पूरा सहयोग करेगी।

Advertisement