चंद मिनटों में वकील की इन दलीलों पर सोनाली फोगाट को मिली जमानत, जानिए पूरा मामला

हिसार : भाजपा नेत्री सोनाली फोगाट व मार्केट कमेटी के सचिव सुल्तान सिंह के बीच हिसार के बालसमंद अनाज मंडी में हुए विवाद के मामले ने इस समय जबरदस्त तूल पकड़ा हुआ है। इस मामले में आज हिसार पुलिस सोनाली फोगाट को अपने साथ पूछताछ के लिए ले कर गई। सोनाली फोगाट को पुलिस ने मजिस्ट्रेट पुष्पा की कोर्ट में पेश किया, जिसके बाद सोनाली की जमानत भी मंजूर हो चुकी है।

सोनाली को वकील सुनील जाखड़ ने जमानत के लिए अदालत में दलील दी कि सोनाली का कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है। सोनाली विधानसभा चुनाव भी लड़ चुकी हैं, उनकी छवि साफ रही है, इसलिए सोनाली पर लगे आरोपों को तय करने के लिए ट्रायल चलाया जाए। वहीं सचिव सुल्तान के वकील ने महेन्द्र सिंह नैन ने सोनाली पर सरकारी काम में बाधा डालने का आरोप, सरकारी कर्मचारी से मारपीट के आरोप लगाए, जो गैर जमानती धाराएं हैं।

 इस मामले में सोनाली के पीए सुधीर को भी जमानत मिली है, साथ ही मार्केट कमेटी सचिव के साथ मारपीट करने वाले चार आरोपियों आशीष, अमित, नवीन, सुभाष को गिरफ्तार किया। इनकी पहचान सीसीटीवी फुटेज में मारपीट की वीडियो वायरल हुई थी, उसके बाद हुई थी। मार्केट कमेटी सचिव सुल्तान सिंह की शिकायत पर सोनाली फोगाट व उनके साथियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 147, 149, 332, 353, 186 व 506 के तहत मामला दर्ज किया है। वहीं सोनाली फोगाट की शिकायत पर मार्केट कमेटी सचिव सुल्तान सिंह के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 354 व 509 के तहत मामला दर्ज किया है।

थप्पड़ कांड मामले में सोनाली की गिरफ्तारी की मांग को लेकर प्रदेश भर में मंडी कर्मियों ने धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया था। वहीं जींद की बिनैन खाप भी सोनाली की गिरफ्तारी के लिए भरपूर दबाव प्रशासन पर बनाया था। बिनैन खाप के समर्थन में सर्वखाप पंचायत भी आई, सर्वखाप पंचायत के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुबे सिंह समैण ने खुद समर्थन का ऐलान किया था।

गौरतलब है कि सोनाली थप्पड़ कांड को लेकर प्रदेश के कर्मचारियों ने बड़े स्तर पर इसका विरोध जताया। कर्मचारियों का कहना है कि यदि सरकारी कर्मचारियों को यदि नेताओं या ओहदेदारों से इस प्रकार की प्रताडऩा मिलती रही तो वे अपना कार्य कैसे कर सकेंगे। सोनाली व सचिव के बीच हुए इस विवाद के दूसरे दिन ही प्रदेश भर में धरना प्रदर्शन शुरू हो गया था।

मामला 5 जून का है जब सोशल मीडिया पर कुछ वीडियो वायरल हुए, जिसमें भाजपा नेत्री सोनाली फोगाट मार्केट कमेटी के सचिव को थप्पड़ जड़ते और जूतों से मारते हुए नजर आईं। वीडियो वायरल होने पर शुरूआत में यह जानकारी मिली कि सचिव ने सोनाली के साथ बदतमीजी की थी, इसलिए सोनाली ने सचिव को पीट दिया। वीडियो में सोनाली कह रही थी कि सचिव को जितने थप्पड़ मारे जाएं कम हैं। हालांकि बाद में मार्केट कमेटी के सचिव सुल्तान सिंह ने भी मीडिया के सामने आकर सोनाली पर गुंडागर्दी करने और चुनावी रंजिश के चलते मारपीट करने का आरोप लगाया था।

हरियाणा महिला आयोग ने लिया सोनाली का पक्षwomen commission in favor of sonali phogat gave this statementमामले ने तूल पकड़ा तो हरियाणा महिला आयोग ने भी इसमें दखल दिया। हरियाणा महिला आयोग की चेयरपर्सन प्रतिभा सुमन ने कहा है कि जो महिला के मान-सम्मान को ठेस पहुंचाएगा वो बार-बार पीटा जाएगा। इस मामले से जुड़े वीडियो  हरियाणा महिला आयोग की चेयरपर्सन प्रतिभा सुमन ने भी देखा। जिस पर उन्होंने यह कहा कि इस घटना का वीडियो देखा तो उन्हें सोनाली फोगाट का कदम गलत लगा। मगर जब पूरी घटना की जानकारी ली और सचिव का ऑडियो सुना तो उन्हें लगा कि सोनाली ने ठीक किया।

Advertisement