प्रेमिका को वीडियो कॉल कर सिपाही झूल गया फंदे पर, जानिए पूरा मामला

फीरोजाबाद: शुक्रवार को दोपहर लगभग पौने एक बजे होंगे। पुलिस लाइन की मेस नंबर दो में खाना खाने के बाद प्रशिक्षु सिपाही हरीश ने अपनी प्रेमिका(दिल्ली पुलिस में सिपाही) को फोन किया, मगर व्यस्तता बता उसने बात नहीं की। कई बार काल के बाद भी जब प्रेमिका ने बात नहीं की तो हरीश ने उससे कहा-‘मैंने फंदा कस रखा है, पांच सेकेंड में वीडियो काल नहीं की,तो पैर हटा लूंगा।’ घबराई प्रेमिका ने तत्काल वीडियो काल की।

मोबाइल की स्क्रीन पर हरीश गले में फंदा लगाए नजर आया। प्रेमिका फंदा हटाने के लिए गिड़गिड़ाई, मगर हरीश ने बाय बोला और अगले ही पल फंदे पर झूल गया। हरीश के हाथ से मोबाइल फोन जमीन पर गिरने से काल डिस्कनेक्ट हो गई। इस हादसे के साथ ही तीन साल पुरानी प्रेम कहानी का दुखद अंत हो गया। सुबह से पूछ रहा था,तो क्या शादी न करेगी?

वर्ष 2018 में दिल्ली पुलिस में भर्ती हुई हरीश की प्रेमिका से ‘जागरण’ ने हादसे के बाद फोन पर बात की। उसने बताया कि हरीश रोज उससे बात करता था। आज सुबह से वह ड्यूटी में व्यस्त थी। हरीश ने सुबह से कई बार फोन लगाए, वह व्यस्तता बताती रही, लेकिन हरीश मानने को तैयार नहीं था।

हर बात यही कहता कि क्या शादी न करेगी? गुस्से में उसने एक बार कह दिया कि खुद को जरा बदल ले। समझाया कि यदि ऐसा ही रहा तो नहीं करूंगी। इसके बाद वह गुस्सा हो गया। दोबारा से फोन कर वो खुदकुशी की धमकी देने लगा। इसके बाद वीडियो काल की और हरीश ने फांसी लगा ली।

बागपत कोचिग में हुआ था प्यार

दिल्ली पुलिस की सिपाही के मुताबिक, हरीश बागपत में कोचिग देता था। वह कोचिग लेने जाती थी। वहीं दोनों में प्यार हुआ। हम दोनों शादी करने को तैयार थे। वर्ष 2018 में मेरी नौकरी दिल्ली पुलिस में लग गई।

दो साल बाद हरीश की भी नौकरी लग गई। नौकरी पाने के बाद मैंने परिवार वालों को हरीश के बारे में बताया था। परिवार वालों का कहना था कि यदि दिल्ली पुलिस में हरीश की नौकरी लगती है तो वे शादी कर देंगे। हालांकि, हम दोनों शादी करने की तैयारी में थे।

हरीश को बचाने के लिए करती रही फोन

दिल्ली पुलिस की सिपाही ने बताया कि हरीश के बाय कहते ही काल कट गई थी। इसके बाद उसने हरीश को कई फोन लगाए, लेकिन काल रिसीव नहीं हुई। उसके तीन दोस्तों को भी फोन लगाए, लेकिन घंटी बजती रही। इसके बाद उसने गूगल से फीरोजाबाद पुलिस लाइन का नंबर तलाश कर फोन लगाया।

काल रिसीव करने वाले ने कहा कि कंट्रोलरूम में बात करो। कंट्रोलरूम से एक मोबाइल नंबर दिया गया, जिस पर बात हुई। इसमें आधा घंटे से ज्यादा का वक्त लग गया। उसका कहना था कि अगर उसके दोस्त काल रिसीव कर लेते तो शायद हरीश की जान बच जाती। कई दिनों से बातों-बातों में देता था खुदकुशी की धमकी

दिल्ली पुलिस की सिपाही ने बताया कि हरीश शादी के लिए जल्दी कर रहा था। हर रोज फोन करता कि शादी कर ले। जरा सी बात पर वह खुदकुशी करने की धमकी देता था। हर बार वह उसे मना लेती थी, मगर आज उसने फंदा कसने के बाद बात की।

Advertisement