स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट शहर के सौंदर्यकरण कार्यों को पूरा करने के लिए दो परियोजनाओं का किया निरीक्षण – DC

इंडिया ब्रेकिंग/करनाल रिपोर्टर (ब्यूरो) करनाल 19 जून, उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने शुक्रवार को करनाल स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत शहर के सौंदर्यकरण को लेकर 2 करोड़ 22 लाख रूपये की दो महत्वपूर्ण परियोजनाओं पर चल रहे कार्यों का निरीक्षण किया। इस मौके पर उन्होंने अधिकारियों व ठेकेदार को निर्देश दिए कि यह कार्य जल्द से जल्द पूरा करवाया जाए तथा नावल्टी रोड से लेकर मीरा घाटी तक के गंदे पानी की निकासी के नाले की सफाई व मरम्मत का कार्य बरसात से पहले पूरा करवाएं। इस मौके पर नगरनिगम के मुख्य अभियंता रामजी लाल, कार्यकारी अभियंता एसके ठुकराल, जेई मोहन शर्मा, एमसी युद्घवीर सैनी व ईश कुमार गुलाटी मौजूद रहे।

नावल्टी रोड सौंदर्यकरण परियोजना की मुख्य विशेषताएं – उपायुक्त ने कहा कि नावल्टी सिनेमा स्थल से मीरा घाटी चौंक तक करीब 1.6 किलोमीटर लम्बी सड़क को स्मार्ट बनाया जाएगा। इस पर 2 करोड़ 12 लाख रूपये की राशि खर्च होगी। दोनों तरफ फुटपाथ होंगे। ट्रैफिक जाम को कम करने के लिए एक समान चौड़ाई का प्रावधान करके कैरिज-वे बनाए जाएंगे। दृष्टिबाधित लोगों की सुविधा के लिए फुटपाथ के बीच पीले रंग की पट्टी लगाई जाएंगी, जिसे टैक्सटाईल फ्लोर कहा जाता है। भारतीय सड़क परिवहन मंत्रालय के मानकों के अनुरूप सड़क पार करने के लिए टेबल टॉप का प्रावधान किया जाएगा। नए छायादार पौधों को रोपित करेंगे और उनके चारों तरफ बैंच लगाकर लोगों के बैठने का प्रावधान किया जाएगा। इसके अलावा इस सड़क के दोनों साईड बने नाले की साफ-सफाई व मरम्मत का कार्य भी करवाया जाएगा।रेलवे रोड पर नेकी की दीवार का निर्माण होगा – स्मार्ट सिटी से जुड़ी दूसरी परियोजना का जिक्र करते हुए उपायुक्त ने बताया कि शहर के रेलवे रोड़ पर योजना के तहत जरूरतमंद लोगों की सहायता हेतु आधुनिक डिजाईन से, 20 वर्ग मीटर एरिया लेकर नेकी की दीवार बनाई जाएगी, जहां दान में दी गई वस्तुओं के संग्रहण का प्रावधान रहेगा। इसकी ऊंचाई 2.65 मीटर होगी। इस पर अनुमानित 10 लाख रुपये की लागत आएगी। राजकीय योजनाओं के जनहित में प्रचार व प्रसार के लिए एलसीडी डिसप्ले बोर्ड लगाया जाएगा। इसके आस-पास नागरिकों के बैठने के लिए स्ट्रीट फर्नीचर होगा तथा दृष्टिबाधित लोगों के लिए टैक्सटाईल फ्लोर का प्रावधान किया जाएगा। दीवार के पीछे आर्ट वर्क करवाया जाएगा तथा एम.एस. शीट पर दीनता का फ्लैग लगाया जाएगा। उपायुक्त ने कहा कि दोनों परियोजनाओं से नि:संदेह शहर का सौंदर्यकरण होगा और लोगों को सुविधा मिलेगी। उन्होंने जनता विशेषकर इस क्षेत्र में रह रहे लोगों का आह्वïन किया कि स्मार्ट सड़क के निर्माण से किसी का अहित नहीं होगा तथा सभी बातों को ध्यान में रखकर ही काम किया जा रहा है। इस अच्छे कार्य के लिए लोगों का सहयोग जरूरी है। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी का प्रोजेक्ट अच्छा है, लेकिन शहर लम्बे समय तक तब ही स्मार्ट रह सकता है, जब यहां के नागरिक भी, स्वच्छता, ट्रैफिक रूल का पालन तथा सरकारी सम्पत्ति के संरक्षण की सोच को लेकर स्मार्ट होंगे।

Advertisement