हरियाणा बोर्ड 10वीं की परीक्षा में सुरक्षा व्यवस्था बनी मज़ाक

हरियाणा बोर्ड की दसवीं की परीक्षा मजाक बनकर रह गई है। वीरवार को अंग्रेजी का पेपर भी परीक्षा शुरू होने से पहले ही व्हाट्सऐप पर वायरल हो गया। सुरक्षा व्यवस्था को धत्ता बताकर एक शख्स परीक्षा केंद्र के अंदर घुस गया। उक्त शख्स ने परीक्षा दे रही एक छात्रा का पेपर लेकर मोबाइल में फोटो उतारकर आसानी से बाहर चला गया। इसके बाद पेपर की फोटो व्हाट्स एप पर वायरल कर दी।

पेपर पर लिखे रोल नंबर के आधार पर परीक्षा केंद्र की पहचान हो गई। यह वाक्या चिड़िया गांव के परीक्षा केंद्र का है। जांच के लिए परीक्षा केंद्र पर पहुंचे एसडीएम संदीप अग्रवाल और बोर्ड उड़नदस्ते ने सीसीटीवी फुटेज भी खंगाली। मौके पर पहुंचे झोझूकलां थाना प्रभारी अनुप सिंह को एसडीएम ने मामला दर्ज करने के आदेश दे दिए। इस पूरे प्रकरण में परीक्षा केंद्र पर तैनात स्टाफ की मिलीभगत से भी कोई इंकार नहीं किया जा सकता।

चरखी दादरी जिले में इस बार 9400 छात्र-छात्राएं दसवीं की परीक्षा दे रहे हैं। वीरवार को अंग्रेजी का पेपर हुआ। लेकिन परीक्षा शुरू होने के करीब बीस मिनट बाद ही प्रश्नपत्र की अलग-अलग सेट की फोटो व्हाट्स एप पर वायरल हो गईं। एक प्रश्नपत्र पर रोल नंबर भी लिखा हुआ था। मामला संज्ञान में आते ही जिला प्रशासन ने शिक्षा बोर्ड से तालमेल कर रोल नंबर के आधार पर पता लगाया कि पेपर की यह तस्वीरें किस परीक्षा केंद्र से वायरल हुई है। इस दौरान पता चला कि पेपर पर लिखा रोल नंबर चिड़िया परीक्षा केंद्र का है। यह रोल नंबर एक छात्रा का मिला।

दोपहर करीब पौने दो बजे एसडीएम और बोर्ड की फ्लाइंग परीक्षा केंद्र पहुंची। प्रश्नपत्र वाली छात्रा से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि एक व्यक्ति पेपर शुरू होने के दस मिनट बाद ही अंदर आया और उसका पेपर लेकर मोबाइल में फोटो उतारकर चला गया। इसके बाद वहां लगे सीसीटीवी की फुटेज खंगाली गई। इस दौरान फोटो उतारने वाले शख्स के संबंध में दी गई जानकारी फुटेज में नजर आने वाले शख्स से मेल खा गई।

हालांकि फुटेज में कैद हुए व्यक्ति का चेहरा तो नजर नहीं आया लेकिन एसडीएम ने झोझूकलां थाना प्रभारी अनुप सिंह को मौके पर बुलाकर इस संबंध में मामला दर्ज करने और फुटेज की जांच कर इस मामले में संलिप्त सभी पर कार्रवाई करने के आदेश दे दिए। वहीं, अंग्रेजी के पेपर में एक यूएमसी भी बनाया गया।

छह पुलिसकर्मी परीक्षा केंद्र की सुरक्षा में हैं तैनात

सूत्रों के अनुसार चिड़िया गांव के परीक्षा केंद्र की सुरक्षा में छह पुलिसकर्मी तैनात हैं। इन पुलिसकर्मियों का काम परीक्षा के दौरान बाहरी हस्तक्षेप को रोकना है। इस मामले में तो बाहरी हस्तक्षेप ही नहीं हुआ बल्कि पेपर की फोटो उतारकर वायरल की गई है और वहां तैनात पुलिसकर्मियों ने भी उक्त शख्स को ऐसा करने से रोकने की जहमत नहीं उठाई।

सीसीटीवी फुटेज खोलेगी राज, शिक्षिका को किया रिलीव

इस पूरे प्रकरण में अहम बात यह है कि परीक्षा केंद्र पर लगे सीसीटीवी में फोटो उतारने वाला शख्स कैद हो गया। फुटेज एसडीएम और बोर्ड फ्लाइंग ने भी देखी। पुलिस ने फुटेज को अपने कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। सूत्रों की मानें तो फुटेज की जांच के बाद स्टाफ सदस्यों की लापरवाही भी उजागर हो सकती है। इस परीक्षा केंद्र पर तैनात एक शिक्षिका को ड्यूटी में कोताही बरतने पर तत्काल रिलीव कर दिया गया।

इस संबंध में फिलहाल अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। सीसीटीवी फुटेज को जांच के लिए हमने अपने कब्जे में ले लिया है। अगर सेंटर अधीक्षक या स्टाफ की मिलीभगत सामने आती है तो उन्हें भी गिरफ्तार किया जाएगा।

 

Advertisement