लॉकडाउन में चोरी छुपे कटवा रहे हैं बाल, तो हो जाएँ सावधान

रेजीडेंसी एरिया में सैलून चला रहे एक नाई ने लॉकडाउन के दौरान लोगों के घरों में जाकर और दुकान पर कस्टमर बुलाकर चोरी-छिपे लोगों के बाल काटे और हजामत बनाई| जब किसी तरह इस बात का पता प्रशासन को चला तो उसका कोरोना टेस्ट कराया गया| रिपोर्ट आई तो होश उड़ गए क्योंकि नाई कोरोना वायरस की चपेट में था|

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई के पास एक चौंकाने वाला वाकया सामने आया है| चेन्नई के वालासर्वंकम इलाके में एक 32 साल का नाई अपनी दुकान को अवैध रूप से खोलकर लोगों के बाल काट रहा था| जब उसका कुछ दिन पहले कोरोना टेस्ट हुआ तो वह पॉजिटिव निकला|

बाल कटवाने वालों की हो रही है ट्रेसिंग

इस बात की खबर लगते ही ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन चौकन्ना हो गया और उसने सोमवार से उन लोगों को ट्रेस करना शुरू कर दिया जो उसकी दुकान में आए थे| जिन घरों में नाई बाल काटने के लिए गया, उनकी भी ट्रेसिंग की जा रही है| अभी तक 30 लोगों के बारे में जानकारी मिली है, जिन्होंने इस नाई से अपने बाल कटवाए थे|

नाई के कोरोना पॉजिटिव निकलते ही आसपास के वालासर्वंकम, नेरकुदंरम, कोयमबेडु इलाकों को लॉकडाउन के अंदर ले लिया गया है| नाई के कॉन्टैक्ट में जो लोग आए हैं, उनको भी ट्रेस किया जा रहा है| अभी इस बारे में कन्फर्म नहीं हो पाया है कि अवैध रूप से सैलून चला रहे नाई पर कोई केस रजिस्टर हुआ है या नहीं|

एमपी में भी नाई की दुकान से फैला था कोरोना संक्रमण

आपको बता दें कि बालों से भी कोरोना वायरस फैलने का खतरा बताया जाता है| देश भर में हेयर सैलून की दुकानें बंद हैं| ऐसे में लोग अवैध रूप से खुली दुकानों में बाल कटवा रहे हैं लेकिन कोरोना का रिस्क भी इसमें ज्यादा है| अभी हाल ही में एक मामला एमपी के खरगोन जिले से आया था जहां एक नाई ने संक्रमित कपड़ा डालकर कई लोगों के बाल काटे, जिनमें से 6 लोग कोरोना पॉजिटिव हो गए थे|

Advertisement