हरियाणा में छठी से आठवीं तक के छात्रों को मिलेगी छात्रवृत्ति, करने होगा ये काम

विद्यार्थियों को आर्थिक सहायता पहुंचाने के लिए प्रदेश में पहली से आठवीं कक्षा के बच्चों को छात्रवृत्ति दी जाएगी। अनुसूचित जाति के पहली से आठवीं कक्षा के विद्यार्थियों को कैश अवार्ड के रूप में छात्रवृत्ति मिलेगी।

छठी से आठवीं कक्षा में प्रथम स्थान पर रहने वाले प्रत्येक स्कूल के एक छात्र व एक छात्रा को शिक्षा प्रोत्साहन के रूप में उत्कृष्टता छात्रवृत्ति दी जाएगी।

विभाग द्वारा भेजे गए पत्र के मुताबिक वित्त वर्ष 2020-21 में कक्षा पहली से आठवीं तक के पात्र छात्र-छात्राओं को एचआर-प्रथम व एचआर-3 स्कीम के तहत प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

एचआर प्रथम में अनुसूचित जाति के पहली से आठवीं कक्षा के विद्यार्थियों को कैश अवार्ड के रूप में अलग-अलग कक्षाओं को अलग-अलग नकद पुरस्कार राशि दी जाएगी।

विद्यार्थियों का डाटा पब्लिक फाइनेंस मैनेजमेंट सिस्टम (पीएफएमएस) पोर्टल पर अपलोड करके वाउचर 12 फरवरी तक निदेशालय की छात्रवृत्ति शाखा को ई-मेल करना होगा।

एचआर-1, अनुसूचित जाति वर्ग (एससी), पहली कक्षा-740 रुपये प्रति विद्यार्थी

दूसरी कक्षा- 750 रुपये प्रति विद्यार्थी।

तीसरी कक्षा- 960 रुपये प्रति विद्यार्थी।

चौथी कक्षा- 970 रुपये प्रति विद्यार्थी।

पांचवीं कक्षा- 980 रुपये प्रति विद्यार्थी।

छठी से आठवीं कक्षा- 1250 रुपये प्रति विद्यार्थी।

जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी आत्मप्रकाश मेहरा ने बताया कि पहली से आठवीं कक्षा के विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति दी जानी है। जिसके लिए पोर्टल पर पात्र विद्यार्थियों का डाटा अपलोड करना है। यह कार्य 12 फरवरी तक पूरा करके विभाग को ई-मेल के माध्यम से सूचित करना है

Advertisement