SBI Education Loan: कैसे मिलेगा एजुकेशन लोन, ब्याज दर से लेकर रिपेमेंट तक जानिए सब कुछ

नई दिल्ली: देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक SBI स्टूडेंट्स (sbi student loan) के लिए खास ऑफर लेकर आया है. अगर आप भी विदेश में पढ़ाई करने का प्लान बना रहे हैं तो अब आप आसानी से अपने इस सपने को पूरा कर सकते हैं. बैंक स्टूडेंट्स को विदेश में पढ़ाई करने के लिए लोन की सुविधा उपलब्ध कराता है. बैंक (Education Loan) अब से ग्राहकों को 15 साल तक लोन का पैसा वापस करने की सुविधा दे रहा है. इसके साथ ही 12 महीने पेमेंट में छूट का भी ऑफर दे रहा है. आइए आपको बैंक के इस लोन के बारे में डिटेल में बताते हैं-

किन कोर्स के लिए मिलता है लोन

बता दें UGC, AICTC और IMC द्वारा मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटीज/कॉलेज से पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री और डिप्लोमा कोर्स के लिए लोन मिलता है. इसमें IIT, IIM भी शामिल है. इसके अलावा केंद्र सरकार या राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त टीचर ट्रेनिंग/नर्सिंग कोर्स के लिए भी लोन सुविधा है. इसके अलावा एयरोनॉटिकल, पायलट ट्रेनिंग, शिपिंग आदि कोर्सेज को डायरेक्टर जनरल ऑफ़ सिविल एविएशन द्वारा मान्यता प्राप्त हो, उनके डिग्री/डिप्लोमा के लिए भी लोन दिया जाता है.


अगर आप विदेश में पढ़ाई के लिए लोन लेना चाहते हैं तो आपको जॉब ओरिएंटेड कोर्स जैसे MCA, MBA और MS जैसे कोर्स वहां की यूनिवर्सिटी से करें तब लोन मिल सकता है. लंदन के चार्टर्ड इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट एकाउंटेंट्स और सर्टिफाइड पब्लिक अकाउंटेंट कोर्स यूएस के लिए भी लोन मिल सकता है.

लोन में कौन से खर्च हैं शामिल

कॉलेज और होस्टल के अलावा लाइब्रेरी, एक्जाम, लैब शुल्क, पुस्तकें, उपकरण, ड्रेस, कंप्यूटर आदि का खर्च कवर होता है. इसके अलावा कोई रिफंडेबल फंड और कॉशन मनी, आदि शामिल है जो पूरे पाठ्यक्रम की फीस का दस प्रतिशत होगा. विदेश में पढ़ने के लिए 50 हजार रुपये तक टू व्हीलर कीमत का यात्रा खर्च भी शामिल है.

कितना मिलता है लोन

मेडिकल कोर्सेज के लिए 30 लाख रुपये लोन तक की सुविधा है. इसके अलावा अन्य कोर्स के लिए 10 लाख रुपये तक का लोन मिल सकता है. उपरी लिमिट 50 लाख रुपये तक है जो केस टू केस निर्भर करता है. विदेशों में पढ़ने के लिए 7 लाख 50 हजार रुपये लोन की सुविधा है जो ग्लोबल ईडी वेंटज के तहत बढ़कर डेढ़ करोड़ रुपये तो हो सकता है.

प्रोसेस चार्ज

20 लाख रुपये तक के लोन पर कोई प्रोसेस चार्ज नहीं है लेकिन इससे ऊपर राशि जाने पर 10 हजार रुपये और टैक्स शामिल है.

सिक्योरिटी

7.5 लाख तक के लोन के लिए उधारकर्ता के माता-पिता सिक्योरिटी के रूप में शामिल किये जाते हैं. इससे ऊपर की राशि के लिए माता-पिता के अलावा टेंजिबल कलेक्ट्रल सिक्योरिटी का प्रावधान है.

मार्जिन

4 लाख रुपये तक के लोन पर कोई मार्जिन नहीं है. इससे ऊपर की राशि पर भारत के लिए 5 फीसदी और विदेशों के लिए 15 फीसदी है.

EMI ऑप्शन

मोरैटोरियम और कोर्स पीरियड के दौरान का ब्याज मूलधन में जोड़ा जाता है और रिपेमेंट उस हिसाब से तय किया जाता है. यदि रिपेमेंट शुरु होने से पहले पूरा ब्याज चुकता कर दिया जाए, तो मूलधन पर EMI तय की जाती है.

Advertisement