कोरोना के चलते लोगों ने ठंडी चीजों से बना ली दूरी तो इस चीज़ की बिक्री ज़ोरों पर

कोरोना का डर ऐसा समाया कि लोगों ने ठंडी चीजों से दूरी बना ली। ज्यादातर लोग फ्रिज के आगे मिट्टी के घड़ों को नजरअंदाज कर चुके थे वह अब इन्हीं घड़ों से ठंडा किया पानी पी रहे हैं। इसका असर यह हुआ कि इन घड़ों की बिक्री में लगभग 50 फीसदी का उछाल आ गया है। बाजार के इस रूझान से इन्हें बनाने वालों में कारोबार मजबूत होने की उम्मीद बढ़ गई है।

डिमांड बढ़ी तो पूरी नहीं कर पाए

पिछले तीस वर्ष से मिट्टी के बर्तन बनाने का काम करने वाले बीकेटी के पास पहाड़पुर निवासी सुन्दर प्रजापति बताते हैं कि इस बार पिछली बार के मुकाबले मिट्टी के घड़ों की बिक्री ज्यादा हुई है। इस बार इतनी मांग आई कि इसे पूरा करना मुश्किल हो गया। वह बताते हैं कि खरीदारी करने वाले ज्यादातर ऐसे लोग रहे जिनके पास फ्रिज जैसी व्यवस्थाएं भी मौजूद हैं। लेकिन कोरोना वायरस की डर से यह अब घड़े के पानी को पहली प्राथमिकता दे रहे हैं।

Clay Water Pot With Tap Manufacturer in Coimbatore Tamil Nadu ...

लॉकडाउन हटा तो घड़ों की बिक्री में आई तेजी

सर्वोदयनगर के कुकरैल पुल पर घड़ों की बड़ी बाजार है। इनमें से एक दुकानदार सुरेन्द्र ने बताया कि लॉकडाउन की वजह से बिक्री पहले तो बिल्कुल नहीं हुई लेकिन जैसे ही लॉकडाउन के बाद बाजार खुली तो लोग घड़े की खरीदारी करना शुरू कर दिए। वह बताते हैं कि सबसे ज्यादा उन घड़ों की मांग है जिनमें प्लास्टिक की टोटी लगी हुई है। हालांकि इस बार आम का पानी बेचने वाले घड़ों की बिक्री बिल्कुल ही नहीं हुई। यह घाटे का सौदा रहा।

 बड़े घड़े का दाम प्लास्टिक की टोटी वाला 140 रुपये

छोटे घड़े का दाम प्लास्टिक की टोटी वाला 120 रुपये

Advertisement