इस नेता के होटल पर छापा, दो विदेशी युवतियों सहित सात पकड़े गए…

आगरा के थाना ताजगंज के शिल्पग्राम के पास स्थित शुभ रिसॉर्ट में गुरुवार रात को पुलिस ने छापा मारकर उज्बेकिस्तान की दो युवतियों और पांच युवकों को पकड़ लिया। इनमें देह व्यापार का चर्चित एजेंट भीमा भी शामिल है। पुलिस का कहना है कि होटल समाजवादी पार्टी व्यापार सभा के जिलाध्यक्ष का है।

छापे के दौरान वह अपने दो साथियों के साथ फरार हो गया है। जिस होटल पर छापा मारा गया, वह ताजमहल से करीब एक किमी दूरी पर है।

एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद ने बताया कि ताजगंज क्षेत्र में शिल्पग्राम के पास होटल में देह व्यापार कराए जाने की जानकारी मिली थी। इस पर सीओ सदर राजीव कुमार ने महिला थाना पुलिस के साथ गुरुवार रात आठ बजे छापा मारा।

होटल के कमरों में उज्बेकिस्तान की दो युवती मिलीं। इसके अलावा पांच और लोग पकड़ लिए गए। इनमें धांधूपुरा निवासी सुरेंद्र उर्फ भीमा भी शामिल है।

पूछताछ में पता चला है कि होटल समाजवादी व्यापार सभा के जिलाध्यक्ष राकेश अग्रवाल का है। उनके सहयोगी चिराग और सुंदरम हैं। तीनों मौके से फरार हो गए। उनकी तलाश की जा रही है। प्राथमिक जांच में यही पता चला है कि होटल सपा नेता ही चला रहे थे।

एक साल पहले पकड़ा गया था भीमा, मिले थे सैकड़ों नंबर

जनवरी 2020 में भीमा को ताजगंज पुलिस ने पकड़ा था। उससे चरस बरामद हुई थी। इस पर उसे जेल भेजा गया था। हालांकि देह व्यापार से भी जुड़े होने की जानकारी मिली थी। उसके मोबाइल में कई दलालों के नंबर थे। पुलिस ने उससे पूछताछ की थी। इसके बाद छापेमारी की थी। देह व्यापार की सरगना महिला भी पकड़ी थी।

इस दौरान होटलों के नाम भी सामने आए थे, जिन्हें किराये पर लेकर देह व्यापार कराया जा रहा था। भीमा के मोबाइल में एक हजार से अधिक युवतियों के नंबर थे, जिनमें विदेशी भी थीं। उसके संपर्क में आगरा के अलावा अन्य शहरों की युवतियों के नंबर थे। मोबाइल में फोटो भी थे। उसके मोबाइलों को जब्त किया गया था।

सपा नेता को भी बनाया जाएगा आरोपी

एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद ने बताया कि होटल शुभ रिसॉर्ट सपा के नेता राकेश अग्रवाल का है। होटल में पुलिस के पहुंचने से पहले वो भाग गए। राकेश अग्रवाल का व्यापारियों में रोज का उठना बैठना है। वह कई बड़े कार्यक्रमों में भी शामिल रहते हैं। वह खुद ही होटल चला रहे थे। देह व्यापार अधिनियम में मुकदमा दर्ज किया जाएगा। इनमें सपा नेता को भी आरोपी बनाया जाएगा।

पकड़ी जा चुकी है देह व्यापार की सरगना महिला

वर्ष 2020 में पुलिस ने देह व्यापार के मामले में सरगना महिला को गिरफ्तार किया था। उसे जेल भेजा गया था। इसके बाद 10 से अधिक लोगों को गिरफ्तार करके जेल भेजा गया था। तब खुलासा हुआ था कि शहर के होटलों को किराये पर लेकर देह व्यापार कराया जा रहा है।

दिल्ली, मुंबई सहित अन्य शहरों से ऑन डिमांड युवतियों को सरगना महिला ही बुलाती थी। उसने अपना बड़ा नेटवर्क खड़ा कर लिया था। उसे रिमांड पर भी लिया गया था। उसने पुलिस की पूछताछ में कई नाम लिए थे। मगर, पुलिस की कार्रवाई ठंडी पड़ गई। 20 से अधिक नाम सामने आने के बाद भी किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई।

जिलाध्यक्ष बोले-राकेश के पास कोई पद नहीं

सपा जिलाध्यक्ष राम गोपाल बघेल का कहना है कि राकेश अग्रवाल के पास फिलहाल पार्टी में कोई पद नहीं है। न ही वह पार्टी में सक्रिय है।

फेसबुक पर पुलिस अधिकारी के साथ फोटो

राकेश अग्रवाल ने फेसबुक पर पुलिस अधिकारियों के साथ फोटो लगा रखा है। यह बाजार में पुलिस की पैदल गश्त के दौरान का है। वह अफसरों के साथ चल रहा है।

 

Advertisement