दिल्ली मेट्रो चलाने की तैयारी पूरी, यात्रा करने के नियम भी बदले, टोकन की जगह लेना होगा…

दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने लॉकडाउन के बाद बदले हालात में मेट्रो चलाने की तैयारी पूरी कर ली है। अब सिर्फ केंद्र और राज्य सरकार के आदेश का इंतजार है। संक्रमण से यात्रियों की सुरक्षा के लिए मेट्रो कई तरह के बदलाव करेगी। इसके तहत यात्रा के लिए टोकन की जगह अब स्मार्ट कार्ड का ही इस्तेमाल होगा।

मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी)के मुताबिक  स्टेशन के एंट्री प्वाइंट पर आरोग्य सेतु एप भी दिखाना अनिवार्य होगा। यही नहीं सुरक्षा के लिहाज से तमाम औपचारिकताएं पूरी होने तक यात्रियों को इंतजार करना होगा।

स्मार्ट कार्ड और आरोग्य सेतु एप और थर्मल स्क्रीनिंग के अलावा सोशल डिस्टेंसिंग के मद्देनजर भी यात्रा के लिए अधिक वक्त देना होगा। मेट्रो के संचालन की तैयारियों के तहत सभी 264 मेट्रो स्टेशनों के अलावा 2200 कोच और लिफट, एस्कलेटर्स सहित यात्रियों के संपर्क में आने वाले सभी जगहों को सैनिटाइज किया जा रहा है। मेट्रो परिसरों सहित कोच के अंदर भी सोशल डिस्टेंसिंग के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए स्टीकर और साइनेज के जरिये जरूरी संदेश भी दिए जाएंगे।

Coronavirus Outbreak: Delhi Metro Services To Be Restricted On Monday

डीएमआरसी ने एक बयान में कहा कि महामारी के मद्देनजर परिसरों को संक्रमण मुक्त रखने और रखरखाव का काम जारी है। डीएमआरसी इसके लिए गाइडलाइन तैयार कर रही है जिसमें मेट्रो के अंदर प्रवेश से लेकर बैठने तक की पूरी व्यवस्था पर नियम बनाए जाएंगे।

लॉकडाउन से पहले मेट्रो के करीब 70 फीसदी यात्री सफर के दौरान मेट्रो कार्ड का इस्तेमाल कर रहे थे। वहीं करीब 30 फीसदी यात्री टोकन खरीद कर यात्रा करते थे। दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी)के मुताबिक स्मार्ट कार्ड सहित संक्रमण से बचाव के लिए जरूरी सभी पहलुओं पर तैयारी लगभग पूरी कर ली गई है।

सुरक्षा के तय मानकों का पूरी तरह पालन किया जाएगा। यही नहीं, दूसरे प्रदेशों के यात्री जो नियमित सफर नहीं करते हैं, उन्हें भी कार्ड लेना होगा।

Advertisement