प्रयास फाउंडेशन ने रेपिड मेट्रो को करनाल तक लाने की मांग की, मांग को मिला भारी जनसमर्थन।

इंडिया ब्रेकिंग/करनाल रिपोर्टर (ब्यूरो) करनाल: 28 दिसंबर, करनाल हेतु स्मार्ट सिटी का मुद्दा उठा कर व अन्य सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से इसे एक जन आंदोलन में बदलने वाली संस्था प्रयास फाउंडेशन के अध्यक्ष कुलजिंदर मोहन सिंह बाठ ने आज करनाल को देश की राजधानी दिल्ली से त्वरित गति के यातायात साधन रेपिड रेल कॉरिडोर प्रोजेक्ट को पानीपत से आगे करनाल तक विस्तार देने की मांग उठाते हुए एक ज्ञापन प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को भेजा, जिसमें उन्होंने मुख्यमंत्री को याद करवाया की करनाल शहर के साथ साथ कुरुश्रेत्र, कैथल व यमुनानगर के हजारों दैनिक व नियमित यात्री प्रतिदिन करनाल से दिल्ली के बीच यात्रा करते है और यह यात्रा काफी समय लेने वाली व धीमी है.

अब जबकि हरियाणा सरकार ने रेपिड रेल परियोजना हेतु 4699 करोड़ रुपए देने का ऐलान किया है तो इस बहुप्रतीक्षित परियोजना को करनाल तक लाने की बात की अनदेखी हरियाणा सरकार व मुख्यमंत्री द्वारा क्यों की गई है जबकि मुख्यमंत्री अपने गत करनाल विधानसभा के अपने चुनावी घोषणा पत्र में इस बात हेतु जनता से वायदा कर चुके है।

प्रयास फाउंडेशन अध्यक्ष कुलजिंदर मोहन सिंह बाठ ने मुख्यमंत्री हरियाणा को दिए अपने ज्ञापन में आगे लिखा की करनाल को स्मार्ट सिटी टाइटल की प्राप्ति हेतु भी लंबा संघर्ष करना पड़ा और अब रेपिड रेल कॉरिडोर परियोजना के बड़े लाभ से करनाल की जनता को वंचित रखना इस क्षेत्र विशेष के विकास के लिए न सिर्फ बाधक ही होगा बल्कि यह करनाल शहर की जनता के साथ एक बड़ा अन्याय भी होगा। उन्होंने कहा कि यदि मुख्यमंत्री अति शीघ्र इस बृहद परियोजना को करनाल तक लाने की घोषणा नहीं करते तो बड़ी संख्या में करनाल की सामाजिक संस्थाएं,गणमान्य नागरिक व जन सामान्य एक बड़े जन आंदोलन को करने को विवश होंगे, उन्होंने कहा कि हैरानी का विषय है.

कि जब केबिनेट ने मुख्यमंत्री को इस रेपिड रेल परियोजना हेतु नीतिगत निर्णय लेने के लिए प्राधिकृत किया तो अपने ही चुनाव क्षेत्र करनाल को वह कैसे भूल गए, जबकि इस परियोजना से न सिर्फ लाखों लोगो को लाभ ही मिलता बल्कि हजारों करोड़ के होने वाले विकास का लाभ भी करनाल क्षेत्र को मिलता, इससे पहले मुख्यमंत्री करनाल को हवाई अड्डा देने की घोषणा कर उस प्रॉजेक्ट को हिसार के गए, जो करनाल की जनता के साथ एक अन्याय था। उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री इस बार करनाल की जनता को निराश नहीं करेंगे और दिल्ली- पानीपत रेपिड रेल परियोजना को करनाल तक बढ़ाने की दिशा में ठोस व सार्थक प्रयास करेंगे।

Advertisement