गरीबों पर सितम, अमीरों पर रहम! गरीब आदमी को नही मिला घर…

कन्नौज: गरीबों पर सितम, अमीरों पर रहम कहावत को चरितार्थ करते हुए सरकारी योजनाओं में भ्रस्टाचार की कलम से सरकारी मुलाजिमों की तिजोरियां कैसे भर रही है इसकी एक तस्वीर यूपी के कन्नौज जिले में देखने को मिली।

यहां झुग्गी झोपड़ी कच्चे मकान में रहने वाले गरीब पात्रों को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ न देकर जिम्मेदारों ने पक्के आलीशान मकानों में रहने वाले अपात्रों को सांठगांठ कर आवास योजना का लाभ दे दिया।

kannauj becomes synonymous with the poor and the rich on the rich

बता दें कि मामले का खुलासा तब हुआ जब पात्र गरीबों ने बताया कि वह जिम्मेदारों की भ्रस्टाचार के पैसों से भरी तिजोरी में पैसा नहीं जमाकर पाए इस कारण लिस्ट में नाम होने के बावजूद उनका नाम काट दिया गया और जिन्होंने तिजोरी भर दी उन अपात्रों को आवास दे दिए गए। पेश है टॉप लेबल पर बैठे लोगों की आँख खोंलने वाली हमारे संवाददाता की यह खास रिपोर्ट।

PunjabKesari

तस्वीरे कन्नौज विकास खंड के गाँव ठठिया की है यहां प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत 136 गरीब परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पक्का आवास देना था।

आवासों के लिए पात्र लोगों का चयन स्थानीय अधिकारियों व ग्राम प्रधान द्वारा किया जाना था। कच्चे आवासों में रहने वालों लोगों ने बताया कि पक्के आवास में रहने वाले अमीरों को आवास दे दिए गए जो कच्चे मकान में रहते हैं उनको आवास नहीं दिए गए।

PunjabKesari

मामले पर ग्राम्य विकास के परियोजना निदेशक सुशील कुमार ने बताया कि अपात्रों को आवास देने की शिकायत आई थी जिसके बाद डीएम कन्नौज के निर्देशानुसार जांच कराई गई तो मामला सही पाया गया। योजना में गड़बड़ी करने वाले 2 पंचायत सचिव को सस्पेंड कर दिया गया है। कई आवास संज्ञान में आये हैं मामले की जांच की जा रही है।

Advertisement