हरियाणा सरकार का ग्रामीण क्षेत्रों के गरीब और माध्यम वर्ग को तोहफा, जानने के लिए पढ़े खबर

चंडीगढ़। हरियाणा सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों के गरीब व मध्यम वर्ग के लोगों को बड़ी खुशखबरी दी है। खट्टर सरकार ने प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में गरीब व मध्यम वर्ग के लिए शहरों की तर्ज पर कॉलोनियां विकसित करने का निर्णय लिया है। हरियाणा ग्रामीण विकास प्राधिकरण द्वारा सर्वप्रथम पानीपत के गांव ईसराना में एक मॉडल कॉलोनी विकसित की जाएगी।

प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला की अध्यक्षता में हरियाणा ग्रामीण विकास प्राधिकरण की बैठक हुई। इस बारे जानकारी देते हुए दुष्यंत चौटाला ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र से लोगों का शहरों की तरफ पलायन रोकने के लिए राज्य सरकार देहात में पंचायती जमीन पर कॉलोनियां विकसित करने की योजना बना रही है। इससे गांव के मध्यम व गरीब श्रेणी के लोगों को किफायती दरों पर अपने गांव में ही शहरों की तरह योजनाबद्घ ढंग से बनाए गए मकान व अन्य सुविधाएं उपलब्ध हो सकेंगी।


इन कॉलोनियों की प्लान जहां टाउन एंड कंट्री प्लानिंग विभाग तैयार करेगा, वहीं आधारभूत ढ़ांचा हरियाणा ग्रामीण विकास प्राधिकरण द्वारा बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सर्वप्रथम पानीपत जिला के गांव ईसराना में एक मॉडल कॉलोनी विकसित की जाएगी, उसके बाद राज्य के अन्य गांवों में भी इस दिशा में कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इस कॉलोनी में जहां 60 प्रतिशत मकान ईसराना के निवासियों को दिए जाएंगे वहीं 40 प्रतिशत मकान खुली बोली से दिए जाएंगे।

उन्होंने बताया कि इस आशय का एक प्रस्ताव ग्राम पंचायत द्वारा पास करके राज्य सरकार को भेजा गया है। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि ईसराना में बनने वाली कॉलोनी का सबसे अधिक फायदा पानीपत के औद्योगिक क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों व कर्मचारियों को होगा। क्योंकि पानीपत में मकानों की कीमत तुलनात्मक रूप से ग्रामीण क्षेत्र से अधिक हैं , ऐसे में पानीपत में नौकरी करने वाले मजदूर व कर्मचारी ईसराना की कॉलोनी में मकान लेकर प्रतिदिन आवागमन कर सकते हैं। उन्होंने टाउन एंड कंट्री प्लानिंग विभाग के अधिकारियों को एक सप्ताह में इस मॉडल कॉलोनी का नक्शा तैयार करने के निर्देश दिए।

Advertisement