पिटबुल कुत्ते ने किया महिला और बच्चो को का ये हाल

पानीपतः एक परिवार घर की सुरक्षा के लिए पिटबुल कुत्ते को लेकर आए। उसी दिन कुत्ते ने पड़ोसियों के घर में घुसकर महिला और उसके तीन बच्चों को लहूलुहान कर दिया। महिला ने पिटबुल को पीछे से पकड़ लिया, लेकिन पिटबुल फिर भी बच्चों को काटता रहा। पिटबुल कुत्ते के पीछे-पीछे उसका मालिक भी पड़ोसियों के घर पहुंचा तो उन्होंने कुत्ते के चंगुल से महिला और उसके बच्चों को छुड़वाया। वहीं, स्थानीय लोगों ने चारों को सामान्य अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टर ने मां और बच्चों को प्राथमिक उपचार किया। चारों का अब भी सिविल अस्पताल में इलाज चल रहा है।

कोहंड गांव निवासी निंदरो पत्नी कृष्ण ने बताया कि वह अपने मायके में रहती है। उसके तीन बच्चे हैं, जिनमें दो बेटी और एक बेटा है। सबसे बड़ी बेटी रिंकल(15), उससे छोटी जयवीर (13 ) और सबसे छोटा लड़का दीपक(10) है। उसके पति कृष्ण ड्राइवरी करते हैं। वह ड्यूटी से घर लौट रहे थे, वहीं उसका बेटा दीपक दुकान से दूध लेने के लिए गया था। उनके पड़ोस में मोहन-सोहन रहते हैं। वह इसी दिन शौक में पिटबुल नस्ल का कुत्ता लेकर आए थे। जिन्होंने शाम को कुत्ते को खुला छोड़ दिया।

जब उसका बेटा दूध लेकर घर की तरफ आया तो कुत्ते ने हाथ में पन्नी देखकर उसका पीछा किया। बच्चा दौड़कर घर के अंदर घुस गया, वह बेड पर बैठे हुए थे। वहीं, बच्चे के पीछे-पीछे कुत्ता भी घर के अंदर आया तो उसके बच्चे दीपक को पकड़ लिया। उसको दो से तीन बार काटा लिया, जिसके बाद उसकी दोनों बहने अपने भाई को बचाने के लिए पिटबुल के पास गईं, लेकिन कुत्ते ने उन्हें भी काट लिया। उसके बाद वह अंदर से बाहर आईं तो तीनों बच्चे लहूलुहान थे।

उसने कुत्ते को पीछे से पकड़ लिया और बच्चों को अंदर भगा दिया। कुत्ते ने किसी को छोड़कर मां के दोनों हाथ, एक पैर और मुंह पर काट कर घायल कर दिया। इसी बीच पिटबुल को ढूंढते-ढूंढते आ रहे मोहन ने महिला को उसकी चुंगल से छुड़ाया। घायल महिला का भाई पानीपत सामान्य अस्पताल लेकर पहुंचा।

महिला ने बताया कि उसका पति सुबह से घर नहीं लौटा था। पति ने शाम साढे़ पांच बजे फोन कर घर पर पत्नी का खाना बनाकर रखने के लिए कहा था। वहीं, पत्नी ने अपने बेटे को दूध लेने के लिए दुकान पर भेजा। जिसके पीछे आकर पिटबुल नस्ल के कुत्ते ने सभी को घायल कर दिया। वहीं, जब उसका पति घर पहुंचा तो उसकी पत्नी सहित तीनों बच्चों लहूलुहान थे।

 [ ट्रांसपोर्टर है मालिक, घटना के बाद अगले दिन ही वापस दिया पिटबुल ]

पिटबुल का मालिक एक ट्रांपोर्टर है। वह घर की सुरक्षा और एक शौक के चलते कुत्ते को लेकर आए थे। जो घटना के अगले ही दिन कुत्ते को वापस छोड़ आए।

[ नस्ली कुत्तों को घर पर लाने के बाद बरतें सावधानियां ]

  1. नस्ली कुत्तों को समय समय पर शिक्षा दिलाएं
  2. समय समय पर इंजेक्शन लगवाएं
  3. बच्चों को कुत्तों के पास ना जाने दें
  4. घर में बांधकर रखे
  5. अगर कुत्ता आक्रामक है तो उसे घर में ना पाले
  6. घुमाते समय एक से दो युवक उसके साथ रहे
Advertisement