उड़ान भरने के बाद यात्री विमान लापता हुआ, 62 लोग थे सवार

इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता से उड़ान भरने के बाद एक यात्री विमान लापता हो गया है. इस विमान में 62 लोग सवार थे. अधिकारियों का कहना है कि श्रीविजया एयर बोइंग 737 से, जकार्ता से वेस्ट कलिमनतन प्रांत के रास्ते में संपर्क टूट गया और विमान लापता हो गया.

विमान यात्रियों के परिजन

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि उन्हें कम से कम एक धमाके की आवाज़ सुनाई दी. सोलिहिन नामक एक मछुआरे ने बीबीसी की इंडोनेशियन सर्विस को बताया कि उन्होंने हादसा होते हुए देखा, जिसके बाद उन्होंने अपने कैप्टन के साथ द्वीप लौट जाने का फ़ैसला किया.

उन्होंने बताया, ”विमान बिजली की तरह समुद्र में गिरा और पानी में धमाका हो गया. हम नज़दीक थे कि कुछ मलबा हमारे जहाज़ से टकराया.”

घटनास्थल के नज़दीक एक द्वीप पर रहने वाले कई लोगों ने बीबीसी को बताया है कि उन्हें कुछ ऐसा मिला है जो विमान का मलबा हो सकता है.

जकार्ता में मौजूद बीबीसी संवाददाता जेरोमी विरावान का कहना है कि विमान दुर्घटना की ये ताज़ा घटना इंडोनेशिया के लिए मुश्किल सवाल खड़े करेगी, जिसकी एयरलाइन इंडस्ट्री साल 2018 में हुए भीषण विमान हादसे के बाद कड़ी निगरानी से गुजर रही है.

इंडोनेशिया की नौसेना को लापता हुए विमान का पता लगाने के लिए तैनात किया गया है.

नेशनल सर्च एंड रेस्क्यू एजेंसी के एक अधिकारी बामबैंग सुरयो अजी का कहना है कि ”हम हादसे की सटीक जगह का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं. हमें उम्मीद है कि आज रात तक इसका पता चल जाएगा. समुद्र की गहराई लगभग 20-23 मीटर है.” उन्होंने स्वीकार किया कि समुद्र में एक जगह पर मलबा नज़र आया है.

फ्लाइट ट्रैकिंग वेबसाइट फ्लाइटरडार24.कॉम के मुताबिक, ये विमान एक मिनट से भी कम समय में दस हज़ार फ़ीट नीचे आया. परिवहन मंत्रालय का कहना है कि विमान का पता लगाने के लिए राहत और बचाव दलों को सक्रिय किया गया है.

श्रीविजया एयर का कहना है कि वो इस उड़ान के बारे में और अधिक जानकारी जुटा रही है. अधिकारियों का कहना है कि लापता हुए विमान से आख़िरी संपर्क स्थानीय समयानुसार दोपहर 2.40 मिनट पर हुआ था.

’26 साल पुराना था विमान’

फाइल फोटो

बीबीसी के बिज़नेस संवाददाता थियो लेगेट के मुताबिक, इंडोनेशिया में कई विमान बहुत पुराने हो चुके हैं, लेकिन इसके बावजूद उड़ान भर रहे हैं.

उनका कहना है शनिवार को लापता हुआ विमान 26 साल पुराना था. सुरक्षित उड़ानों के मामलों में इंडोनेशिया का रिकॉर्ड अच्छा नहीं रहा है. इंडोनेशिया में ऐसे कई विमान अभी भी प्रयोग में लाए जा रहे हैं जो अस्सी और नब्बे के दशक में बने थे.

इंडोनेशिया में इससे पहले दो बड़े विमान हादसे हो चुके हैं जिनमें 737 मैक्स बोइंग विमान दुर्घटनाग्रस्त हुए थे. हालांकि शनिवार को जकार्ता से उड़ा विमान 737 मैक्स श्रेणी का नहीं है.

अक्तूबर 2018 में इंडोनेशियन लायन एयर की फ्लाइट हादसे का शिकार हुई थी जिसमें 189 लोग मारे गए थे और विमान का मलबा समुद्र में मिला था.

Advertisement