हिमाचल में मां-बाप, चाचा और दो भाइयों ने कराया देह व्यापार, लड़की चलने-फिरने में असमर्थ हुई तो यमुनानगर में छोड़कर फरार

रिश्तों को शर्मसार करता मामला महिला थाना पुलिस के सामने आया। इसमें पैसों के लालच में 20 वर्षीय लड़की को परिवार के लोगों ने ही देह व्यापार में धकेल दिया। ये आरोप पीड़िता ने मां-बाप सहित चाचा व दो भाइयों पर लगाए। मामला हिमाचल के नालागढ़ क्षेत्र का है, जहां चार माह आरोपियों ने लड़की से अनैतिक कार्य कराया। हालत बिगड़ने पर लड़की को दवा व इलाज दिलाने के बजाए गलत काम कराते रहे।

जब लड़की चलने-फिरने में असमर्थ हो गई, तब आरोपी यमुनानगर रह रहे उसके बुआ-फूफा के पास छोड़ फरार हो गए। बाद में आरोपी फोन पर उसे व बुआ-फूफा को जान से मारने की धमकियां दे रहे हैं। मामले में महिला थाना पुलिस ने लड़की के बयान लेकर उसके मां-बाप, चाचा व दो भाइयों पर केस दर्ज कर लिया।

पैसे के लाचल में कराया घिनाैना कार्य
लड़की ने शिकायत में बताया कि उसके पिता राजू, मां गुल्ली, चाचा श्याम, भाई राकेश व सूरज के साथ हिमाचल प्रदेश के नालागढ़ क्षेत्र में रहती थी। परिवार के सदस्यों ने पैसे कमाने के लालच में उसे देह व्यापार में धकेल दिया। ऐसा न करने पर परिवार के लोग मारपीट करते व जबरदस्ती देह व्यापार कराते। तबीयत ज्यादा खराब होने पर जब चलने-फिरने में असमर्थ हो गई, तब शहर के ईएसआई अस्पताल के पास झुग्गी-झोपड़ी में रह रहे बुआ व फूफा के पास छोड़कर चले गए। बुआ व फूफा ने उसे इलाज के लिए शहर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया है।

Advertisement