पानीपत के टोल-पास में चालाकी से कट रहे लोगो के पैसे, 10 की जगह ले रहा 35 रुपए

टोल कंपनी एलएंडटी कई शहर वासियों के पास रद कर 10 रुपए की बजाय फास्ट टैग से 35 रुपए काट रही है। कुछ लोगों को पता चला तो इसकी शिकायत करने टोल पहुंचे, तो कंपनी के कर्मचारियों ने बताया कि आपका पास रद हो गया है। फिर से कागज जमा कराएं। तीन दिन में कागजों का वेरीफिकेशन होगा, तब पास मान्य होगा।

पाहूजा अस्पताल के डॉ. नरेश पाहूजा की कार का पास बना है। उन्होंने बताया कि फास्ट टैग पेटीएम से जुड़ा है। तीन दिन पहले तीन बार कार टोल से गुजरी तो हर बार 10 की बजाय 35 रुपए काटे गए। सोमवार को बताया गया कि पास रद कर दिया है। क्योंकि एक साल बाद भी दोबारा कागज जमा नहीं कराए हैं।

बिना बताए कैसे पास रद कर सकती है कंपनी

डॉ. पाहूजा ने कहा कि कागज तो अप्रैल 2020 में जमा कराए थे। लेकिन टोल प्रशासन ने एक नहीं सुनी। उन्होने कहा कि बिना बताए ही कंपनी कैसे पास रद कर सकती है। उन्होने  सोमवार को दोबारा से कागज जमा कर दिया। लेकिन मंगलवार को फिर से 35 रुपए कट गए।

यह एनएचएआई का नियम है, टोल की मनमानी नहीं

इस बारे में टोल इंचार्ज सुशील शर्मा ने कहा कि यह एनएचएआई का नियम है। इसमें टोल कंपनी की कोई मनमानी नहीं है। उन्होंने कहा कि जब कभी भी पास बनाएं, एक साल पूरा होने से पहले ही दोबारा से कागज जमा कराकर वेरीफिकेशन करा लें। नहीं तो पास रद हो जाएगा।

कंपनी को लाभ, इसलिए अग्रिम जानकारी नहीं दी

इसमें कंपनी को ढाई गुणा फायदा है। इसलिए पास वाले को जानकारी नहीं दे रही है। सीधे पास रद कर दे रही है। शहर वासियों को रियायत के तौर पर पास मिलता है। जिस पर एक बार क्रॉस करने पर 10 रुपए लगते हैं। वहीं, पास रद करने पर फास्ट टैग से 35 रुपए काट लेते हैं।

मामला बड़ा, 5 हजार से अधिक पास हैं

मामला छोटा नहीं है, क्योकि टोल का उपयोग किए बिना ही शहर वासी टोल भुगत रहे हैं। फिर भी 5 हजार से अधिक शहर वासियों ने पास बना रखे हैं। अब बिना पूर्व सूचना के ही कंपनी पास रद कर पैसे वसूल रही है।

यहां फोन कर लें जानकारी

0180-6612250 पर फोन कर पास संबंधी जानकारी ले सकते हैं। टोल इंचार्ज सुशील शर्मा ने कहा कि अगर कागज जमा कराए 72 घंटे हो चुके हैं, लेकिन पास एक्टिवेट नहीं हुआ है ऐसे में अगर फास्ट टैग से 10 की बजाय 35 रुपए कटते हैं तो [email protected] पर कंप्लेंट करें।

Advertisement