पानीपत पुलिस का कारनामा : स्कॉर्पियो के ड्राइवर का काटा ‘नो हेल्मेट’ चालान

पानीपत. पुलिस (Police) की चाल और उसका चरित्र देश के लगभग हर हिस्से में एक सा है. वह अपनी कारगुजारियों की वजह से हमेशा चर्चा में रहती है. पुलिस से जुड़ी ऐसी बहुत कम खबरें ही होती हैं, जहां वह अपने सामाजिक दायित्व का पालन करती नजर आए. अधिकतर खबरों में उसकी शक्ति का दुरुपयोग और उसकी ही उजागर होते हैं. ताजा मामला पानीपत पुलिस (Panipat Police) का है जो आजकल अपनी कार्यप्रणाली के चलते सुर्खियों में है. पानीपत की ट्रैफिक पुलिस इन दिनों एक तरह का ट्रैफिक अभियान (Traffic drive) चला रही है.

इसी क्रम में उसने सेक्टर 25 पार्ट 2 प्लॉट नंबर 204 के बाहर कई दिनों से खराब खड़ी स्कॉर्पियो गाड़ी का चालान कर दिया है. इस चालान में बताया गया है कि गाड़ी नो पार्किंग जोन में खड़ी है. साथ ही बगैर लाइसेंस का चालन ट्रैफिक पुलिस द्वारा किया गया है. पीड़ित ने कहा कि यहां सैकड़ों गाड़ियां खड़ी रहती हैं, लेकिन ट्रैफिक पुलिस द्वारा अब उन्हें बेवजह परेशान किया जा रहा है. उन्होंने पुलिस प्रशासन से इस प्रकार परेशान न करने की गुहार लगाई है.

कार चालक को ‘नो हेल्मेट’ चालान

दरअसल, बीते दिनों पानीपत से सोनू नामक युवक अपनी फैक्ट्री मालिक की गाड़ी मांगकर समालखा में अपनी बीमार बेटी का इलाज करवाने गया था. सोनू ने यह गाड़ी जीटी रोड सड़क किनारे खड़ी की थी. ट्रैफिक पुलिस ने गाड़ी का ऑनलाइन नो पार्किंग का चालान किया और भेज दिया. इसके साथ चालान काटने में ट्रैफिक पुलिस इतना व्यस्त  रहती है कि उन्होंने कार का बगैर हेल्मेट का चलान भी साथ भेज दिया. कई बार ऐसे भी पुलिस सिर्फ धड़ल्ले से चालान काटने में व्यस्त है. वही पीड़ित ने प्रशासन से बगैर हेल्मेट का चालन कैंसिल करने की अपील करने के साथ लोगों को ऐसे बेवजह परेशान न करने की भी अपील की थी.

Advertisement