देश के इस राज्य में लगाया गया एक हफ्ते का लॉकडाउन, राजधानी भी बना कन्टेन्मेंट जोन

कोरोना वायरस से बढ़ते मामले को देखते हुए छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर समेत 10 जिलों में आज यानी 21 सितंबर से 28 सितंबर तक लॉकडाउन लगाया गया है. राज्य सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों पर काबू पाने के लिए एहतियातन यह कदम उठाया है. वहीं, इसके अलावा रायपुर को 28 सितंबर तक कंटेन्मेंट जोन भी घोषित किया गया है.

सरकारी आदेश में कहा गया है कि राज्य के पूरे जिले में 21 सितंबर रात 9 बजे से 28 सितंबर 12 बजे तक धारा 144 भी लागू रहेगी. इस अवधि में रायपुर जिले की सभी सीमाएं पूरी तरह से सील रहेंगी. इस दौरान, मेडिकल स्टोर्स को अपने निर्धारित समय में खुलने की अनुमति होगी. दूध की बिक्री भी निर्धारित समय में की जा सकेगी. वहीं, रायपुर में पेट्रोल पंप भी खुले रहेंगे, लेकिन वे सिर्फ एम्बुलेंस, सरकारी वाहनों, एलपीजी डिलीवरी वाहनों और आपातकालीन सेवाओं में लगे वाहनों को ही ईंधन देंगे.

राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि रायपुर जिलाधिरकारी एस भारती दासन ने एक आदेश जारी कर रायपुर जिले को निरुद्ध क्षेत्र (कंटेनमेंट जोन) घोषित कर दिया है. बता दें कि छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हुई है. रायपुर शहर में 26 हजार से अधिक मामले हैं. वहीं प्रतिदिन 900 से हजार मामले सामने आ रहे हैं.

अधिकारियों ने बतााया कि कोरोना वायरस को फैसले से रोकने के लिए लगातार प्रयासों के बावजूद संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. ऐसी दशा में कोरोना वायरस की रोकथाम और इसकी श्रृंखला को तोड़ने के लिए संपूर्ण रायपुर जिले को निरुद्ध क्षेत्र घोषित किया जाना आवश्यक हो गया है.

वहीं, अपरिहार्य परिस्थितियों में रायपुर जिले से अन्यत्र जाने वाले यात्रियों को ई-पास के माध्यम से पूर्व अनुमति लेना अनिवार्य होगा. अधिकारियों ने बताया कि रायपुर के अलावा राज्य के अन्य शहरी इलाकों में भी लॉकडाउन लगाया गया है. इनमें बिलासपुर शहर में 22 सिंतबर की सुबह से 28 सितंबर की मध्य रात्रि तक तथा दुर्ग और भिलाई शहर समेत अन्य छह शहरी क्षेत्रों में 20 से 30 सितंबर तक लॉकडाउन रहेगा. अधिकारियों ने बताया कि इसके साथ ही सरगुजा जिले के संपूर्ण अंबिकापुर नगर निगम क्षेत्र में भी 21 सिंतबर से 28 सितंबर की मध्य रात्रि तक लॉकडाउन घोषित किया गया है.

Advertisement