अब दूल्हा-दुल्हन ढूंढ़ने में मदद करेगी हरियाणा सरकार, जानें कैसे करा सकते हैं रजिस्ट्रेशन

चंडीगढ़ । करीब छह साल पहले विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा नेता के बयान ने खूब सुर्खियां बटोरी थी कि वह हरियाणा के कुंवारे युवाओं के लिए उत्तर प्रदेश व बिहार से दुल्हनियां लाएंगे। तब इसे चुनावी

शिगूफा समझते हुए बात आई-गई हो गई थी, लेकिन अब प्रदेश सरकार वास्तव में शादी के लिए मनपसंद रिश्ते ढूंढ़ने में मदद करेगी। मिलन योजना के तहत ग्रामीण इलाकों में खुले कॉमन सíवस सेंटर (सीएससी) पर रजिस्ट्रेशन कराकर मनपसंद वर-वधू की तलाश पूरी की जा सकेगी।

ग्रामीण इलाकों में सीएससी पर रजिस्ट्रेशन कराकर ढूंढ़े जा सकेंगे मनपसंद जीवन साथी

केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा संचालित सीएससी के माध्यम से शादी के लिए मनपसंद रिश्ता ढूंढ़ने वाले ग्रामीणों के लिए ग्रामीण मेट्रोमोनी (मिलन) पोर्टल शुरू किया गया है। यदि परिवार के किसी सदस्य या खुद की शादी के लिए मनपसंद रिश्ता नहीं मिल रहा है तो आपकी सारी दिक्कतें खत्म हो जाएंगी।

चार दिन में 286 युवाओं ने कराया सरकारी पोर्टल पर पंजीकरण, इनमें 271 युवक और 15 युवतियां

प्रदेश में चार दिन में 286 युवाओं ने इस प्लेटफार्म पर अपना पंजीकरण कराया है। इनमें 259 आवेदकों की प्रोफाइल एक्टिव है, जबकि पंजीकरण कराने वाले 27 लोगों ने पूरी जानकारी अभी तक नहीं दी है। इन आवेदकों में 271 युवक और 15 युवतियां हैं।

ऐसे होगा पंजीकरण

सीएससी संचालकों को पंजीकरण के लिए मिलन.सीएससी-सíवस.इन पोर्टल पर जाना होगा। पंजीकरण के लिए यूजर आइडी भी बनानी होगी। पोर्टल पर भरा गया प्रोफाइल पूरी तरह सुरक्षित रहेगा। जिस परिवार ने शादी के लिए पंजीकरण कराया है, उसके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) आएगा। इसके बाद ही पंजीकरण करने वाला आवेदक युवक-युवती की प्रोफाइल देख सकेगा।

फोटो के साथ वीडियो करनी होगी अपलोड

पोर्टल पर पंजीकरण कराते समय युवक या युवती को अपना एक फोटो देना पड़ेगा जो प्रोफाइल में दिखेगा। साथ ही पांच एमबी की एक वीडियो भी अपलोड करनी पड़ेगी जिसमें वह अपनी पूरी जानकारी देंगे। इस पोर्टल पर जन्मतिथि, जन्म का समय, कद, रंग, व्यवसाय, शैक्षणिक योग्यता, आय, सालाना कमाई और पूरे परिवार की जानकारी अपलोड करनी पड़ेगी। उसके बाद ही आवेदक का पंजीकरण होगा और एक आइडी बनेगी। आवेदन के लिए युवती की उम्र 18 साल और युवक की उम्र 21 साल होनी अनिवार्य है।

मुफ्त में होगा रजिस्ट्रेशन

प्राइवेट मेट्रीमोनियल साइट पर जहां दूल्हा-दुल्हन की तलाश के लिए रजिस्ट्रेशन के नाम पर भारी-भरकम राशि चुकानी पड़ती है, वहीं दूसरे भी कई खर्चे हैं। इसके उलट सरकारी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के लिए कोई शुल्क नहीं देना पड़ेगा। निजी मेट्रीमोनियल साइट की तुलना में यह सुरक्षित भी होगी क्योंकि इस पर अपलोड किया गया डाटा पूरी तरह गोपनीय रहेगा।

Advertisement