अब देहरादून से दिल्ली सिर्फ 3 घंटे, जानिए क्या होगा नया एक्सप्रेस-वे रूट

दिल्ली से देहरादून का सफर अब आसान होने जा रहा है। दिल्ली से लेकर देहरादून तक फोर लेने एक्सप्रेस-वे बनाया जाना है। परियोजना के तहत सड़क निर्माण का काफी काम पूरा हो गया है। अब तीसरे चरण का काम होना है। जिसमें गणेशपुर से देहरादून के बीच का 19 किमी का हिस्सा बनाया जाना है। उत्तराखंड से दिल्ली की कनेक्टिविटी के लिहाज से ये प्रोजेक्ट बेहद महत्वपूर्ण है। एक्सप्रेस वे बन जाने के बाद लोग दून से दिल्ली सिर्फ 3 घंटे में पहुंचेंगे। अभी इस दूरी को तय करने में 5 से 7 घंटे लगते हैं।

इस तरह दून से दिल्ली का सफर उबाऊ होने के साथ ही तकलीफ भी देता है। चलिए अब आपको प्रोजेक्ट की खास बातें बताते हैं। दिल्ली देहरादून एक्सप्रेस-वे प्रोजेक्ट के तहत दिल्ली से डासना, सावली, सहारनपुर और गणेशपुर होते हुए देहरादून तक फोर लेन एक्सप्रेस-वे बनाया जाना है। परियोजना का काफी हिस्सा बनकर तैयार है। अब तीसरे चरण का काम होना है।

जिसके तहत गणेशपुर से देहरादून के बीच का 19 किमी भाग बनाया जाना है। इसके अलावा तीसरे चरण में डाट काली मंदिर के पास 400 मीटर लंबी डबल लेन टनल बनाई जाएगी। नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने इस सुरंग के लिए डीपीआर बनाने का काम शुरू कर दिया है।

इससे पहले केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय ने प्रोजेक्ट को वित्तीय मंजूरी प्रदान की थी। जिसके बाद अब टेंडर की प्रक्रिया के साथ ही डीपीआर बनाने का काम भी शुरू कर दिया गया है। वर्तमान में यात्रियों को दिल्ली, गाजियाबाद, मेरठ, मुजफ्फरनगर और रुड़की होते हुए देहरादून आना पड़ता है। इसी तरह देहरादून से दिल्ली जाने में लोगों को 250 किमी लंबे नेशनल हाईवे का सफर करना पड़ता है।

जिसमें पांच से सात घंटे लगते हैं। रोड पर आए दिन जाम लगा रहता है, लेकिन नया एक्सप्रेस वे कई शहरों को बाईपास करते हुए बन रहा है। जिससे जाम की समस्या नहीं रहेगी। नए एक्सप्रेस वे का रूट दिल्ली, डासना, सावली, सहारनपुर, गणेशपुर और देहरादून होगा। जिसकी दूरी 200 किलोमीटर होगी। लोनिवि सचिव आर के सुधांशु ने कहा कि दून-दिल्ली एक्सप्रेस-वे परियोजना को जल्द पूरा करने के प्रयास किए जा रहे हैं। राज्य में निवेश और आर्थिक गतिविधियों के हिसाब से ये परियोजना अहम साबित होगी। साथ ही लोगों का सफर भी आसान हो जाएगा।

Advertisement