लॉकडाउन-5 के तहत दी गई रियायतों के बावजूद मेरठ में कोई राहत नहीं

कोरोना वायरस के चलते पूरे में लगे लॉकडाउन का पांचवां चरण आज से लागू हो गया है। लॉकडाउन-5 के तहत दी गई रियायतों के बावजूद उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में अभी कोई राहत नहीं दी जाएगी। डीएम अनिल ढींगरा ने कहा है कि मेरठ में अभी कोई राहत नहीं दी जाएगी। सोमवार को पूर्ण लॉकडाउन रहेगा। संबंधित विभागों से विचार-विमर्श और जिले की जनता के हित में सोच-समझकर फैसला किया जाएगा। शासन की गाइडलाइन के आधार पर स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम से रिपोर्ट मांगी गई है। फिलहाल जिले में यथास्थिति रहेगी। करीब दो दिन बाद विचार-विमर्श के बाद निर्णय लिया जाएगा।

शासन की ओर रविवार की शाम को लॉकडाउन-5 को लेकर गाइडलाइन जारी कर दिया गया। इसके बाद डीएम स्तर पर प्रशासनिक अधिकारियों से लगातार विचार-विमर्श किया गया। अधिकारियों से विचार-विमर्श में यह तय हुआ कि सोमवार को पूर्व की तरह पूर्ण लॉकडाउन रहेगा। दूध और दवा की दुकानों को छोड़कर सब कुछ बंद रहेगा। रोडवेज की सेवा को इससे मुक्त रखा गया है।

No relaxation will be given during lockdown in Meerut and will be ...

इसके बाद डीएम की ओर से सीएमओ और नगर आयुक्त को पत्र भेजकर शहर में कोरोना की स्थिति पर स्पष्ट मंतव्य देने को कहा गया। साथ ही यह भी बताने को कहा गया कि महानगर के कनटेनमेंट क्षेत्र में फिलहाल कितने हॉट स्पॉट हैं। किस हॉट-स्पॉट में कितने केस सक्रिय हैं और कितने निष्क्रिय। इन सारी बिन्दुओं पर सीएमओ, नगर आयुक्त को स्पष्ट राय देने को कहा गया है। उसके बाद ही मेरठ को छूट दिये जाने पर विचार किया जाएगा। फिलहाल सख्ती से लॉकडाउन-4 की तरह ही अनुपालन करना होगा। साथ ही जिले में धारा-144 भी लागू है। उल्लंघन की स्थिति में सख्ती से कार्रवाई की जाएगी। केवल आवश्यक सेवाओं को पूर्व की तरह छूट रहेगी।

शासन से गाइडलाइन प्राप्त हो गई है। गाइडलाइन के सारी बिन्दुओं की समीक्षा की जा रही है। सीएमओ और नगर आयुक्त से रिपोर्ट मांगी गई है। रिपोर्ट के आधार पर लॉकडाउन-5 में छूट पर निर्णय लिया जाएगा। फिलहाल यथास्थिति रहेगी। – अनिल ढींगरा, डीएम।

Advertisement