फोर-लेनिंग कार्य के चलते उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने किया कार्यस्थल का दौरा

इंडिया ब्रेकिंग/करनाल रिपोर्टर(ब्यूरो) करनाल-कैथल रोड़ के फोर-लेनिंग कार्य के चलते, पश्चिमी यमुना नहर पर मौजूदा पुल के साथ, लोक निर्माण विभाग (सड़के) द्वारा करीब 8 करोड़ रुपये की लागत से निर्माणाधीन पुल के कार्य का मंगलवार को उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने कार्यस्थल का दौरा किया। दौरे के दौरान कार्यकारी अभियंता दलेल सिंह दहिया भी उनके साथ थे। उपायुक्त ने वहां मौजूद लोगों की बात सुनी और कहा कि सरकार द्वारा लोगों को बेहतरीन सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए सड़कें और पुलों का निर्माण करवाया जाता है, ना कि जनता को परेशान करने के लिए।उपायुक्त के दौरे के दौरान कुछ लोगों ने आपत्ति जताई कि नए पुल की लोकेशन शिफ्ट की जाए और पुराने व नए के बीच करीब 30 फुट का गैप रखा जाए। पुल के दोनों ओर की सड़क को, पिंगली मोड़ से प्रारम्भ करके शिव कॉलोनी साईड में सड़क  के साथ लगते नगर निगम के पार्क की जगह में से निकाला जाए। उपायुक्त ने लोगों की भावना को समझते हुए इंजीनियर विंग व रोड सेफटी एसोसिएट की एक संयुक्त कमेटी गठित करने का भरोसा दिलाया और कहा कि कमेटी की रिपोर्ट दो-तीन दिन में आ जाएगी, उसके बाद पुल के निर्माण कार्य को तेज गति से पूरा करवाया जाएगा।इस मौके पर लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता ने उपायुक्त को निमार्णाधीन पुल का ले-आऊट दिखाया और इसकी फिजिबिलीटी के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पश्चिमी यमुना नहर पर निर्माणाधीन पुल को अप्रूव्ड मैप से बनाया जा रहा है और सड़क की फोर-लेनिंग का कार्य प्रगति पर है। दोनों कार्यों के मुकम्मल हो जाने पर यहां से गुजरने वाला यातायात सुगम होगा और वाहन चालकों को बड़ी राहत मिलेगी। सिंगल पुल होने से अब जो समस्या पेश आ रही है, वह समाप्त हो जाएगी। इस अवसर पर क्षेत्र के पार्षद जोगिंदर शर्मा, भाजपा नेता गुरमीत नरवाल कमांडो, भगवानदास अग्गी सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

Advertisement