मनोहर लाल के सिरसी गांव में आगमन को लेकर निशांत कुमार ने किया कार्यक्रम स्थल का दौरा !

इंडिया ब्रेकिंग/करनाल रिपोर्टर(सिमरजीत कौर)  गणतंत्र दिवस के दिन जिला के गांव सिरसी में मुख्यमंत्री हरियाणा मनोहर लाल व उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के आगमन को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं। उपायुक्त निशांत कुमार यादव और पुलिस अधीक्षक एसएस भोरिया ने गुरूवार को सिरसी गांव का दौरा किया और प्रबंधों को लेकर संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। बता दें कि इस दिन मुख्यमंत्री प्रदेश के पहले लाल डोरा मुक्त गांव के लोगों को उनकी प्रोपर्टी की टाईटल डीड वितरित करेंगे।

सिरसी गांव करनाल-कैथल रोड पर स्थित है। गांव के साथ ही सडक़ किनारे दो खाली पड़े प्लॉटों पर कार्यक्रम स्थल का चयन किया गया है। एक छोटी डिवाईडिंग दोनों को अलग-अलग विभाजित करती है। एक साईड में मुख्यमंत्री के लिए हैलीपैड बनाया जाएगा तो दूसरी ओर जनसभा का कार्यक्रम रहेगा। उपायुक्त के अनुसार कार्यक्रम प्रात: 11 बजे शुरू हो जाएगा, इसमें आस-पास देहात से बड़ी संख्या में ग्रामीणों के पहुंचने की संभावना रहेगी। उपायुक्त ने दौरे के दौरान संबंधित अधिकारियों को सभी आवश्यक प्रबंध समय पर करने के निर्देश दिए। जिसमें जन स्वास्थ्य विभाग की ओर से वीआईपी टॉयलेट और पीने के पानी की व्यवस्था की जाएगी। वीआईपी मंच के सामने डी के बाद ग्रामीणों के बैठने के लिए चार छोटे ब्लॉक रहेंगे जिनमें महिलाओं का ब्लॉक भी होगा। लोक निर्माण विभाग (सडक़ें) के कार्यकारी अभियंता दलेर सिंह को उपायुक्त ने निर्देश दिए कि वे कार्यक्रम स्थल पर बैरिकेटिंग की व्यवस्था करवाएंगे। जबकि पंचायती राज विभाग की ओर से टैंट इत्यादि को लगवाने की व्यवस्था रहेगी। स्वास्थ्य विभाग के डिप्टी सीएमओ को कार्यक्रम स्थल पर एम्बुलैंस और डॉक्टरों की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए।

उपायुक्त के दौरे में अतिरिक्त उपायुक्त अनीश यादव, एसडीएम नरेन्द्र पाल मलिक, नगराधीश डा. पूजा भारती, पंचायती राज के अधीक्षण अभियंता रामफल, जिला राजस्व अधिकारी श्याम लाल, डीडीपीओ राजबीर खुंडिया, तहसीलदार राजबख्श सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे। करीब 1500 की आबादी का सिरसी गांव प्रदेश का पहला लाल डोरा मुक्त गांव होने के नाते सुर्खियों में है और मुख्यमंत्री मनोहर लाल अपने हाथों से ग्रामीणों को उनकी प्रोपर्टी की टाईटल डीड वितरित करेंगे, कुल 357 डीड बांटी जाएंगी। आजादी के बाद सिरसी गांव में पहली बार किसी मुख्यमंत्री का आगमन हो रहा है। इसे लेकर ग्रामीणों में उनके स्वागत को लेकर अच्छा-खासा उत्साह बना हुआ है। गांव की पंचायत की कमान एक शिक्षित महिला सरपंच आशना के हाथ में है। इससे पहले भी वर्ष 2005 में गांव में ममता नाम से एक महिला सरपंच चुनी गई थी।

गांव के मौजिज व्यक्ति सुमित के अनुसार सिरसी छोटा गांव होने के बावजूद, वर्तमान में यहां डाकघर की सुविधा, प्राईमरी स्कूल, दो आंगनवाड़ी केन्द्र और एक चौपाल मौजूद हैं। अब मुख्यमंत्री के समक्ष ग्राम पंचायत की ओर से कुछ नई मांग प्रस्तुत की जानी प्रस्तावित हैं जिनमें खेल स्टेडियम, अनुसूचित जाति की चौपाल, गांव के इर्द-गिर्द रास्तों को पक्का करना और सोलर पॉवर सिस्टम स्थापित करना शामिल हैं। उम्मीद है कि मुख्यमंत्री ग्रामीणों की सभी मांगें पूरी कर उनको सौगात देंगे। इससे गांव के विकास में कुछ और कडिय़ां जुडेंगी और सिरसी गांव की तस्वीर बदलेगी तथा विकास से ग्रामीणों की सुविधाओं में इजाफा होगा।

Advertisement