कभी भी फोन पर किसी को बैंक या एटीम की जानकारी न दें, हो सकते है ठगी का शिकार !

दिल्ली : हाल ही में जामताड़ा वेब सीरीज से प्रेरित होकर क्रेडिट कार्ड धारकों से ठगी करने वाले दो लोगों को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनमें एक महिला भी शामिल है। यह आरोपी कार्ड धारकों को फ्री गिफ्ट का झांसा देकर अपने जाल में फंसाते थे। पुलिस ने इनके कब्जे से तीन मोबाइल फोन, आठ सिम कार्ड व एक सीपीयू बरामद किया है।

पुलिस के मुताबिक इन आरोपियों की पहचान राजौरी गार्डन निवासी राजन सैनी व उसकी महिला संबंधी करोल बाग निवासी प्रीति को गिरफ्तार किया है। यह महिला एक बैंक में कार्यरत थी और नये क्रेडिट कार्ड धारकों की जानकारी राजन को देती थी। एक महिला ने अपनी शिकायत में कहा कि उसने 19 जनवरी को बैंक से क्रेडिट कार्ड मिला था और सोमवार दोपहर सवा तीन बजे उसे किसी आशीष ने बैंक कर्मी बनकर फोन किया। उसने कहा कि यह कॉल केवाईसी की पड़ताल व अपडेट के लिए की गई है।

दक्षिण पूर्व जिला पुलिस उपायुक्त चिन्मय बिसवाल ने बताया कि महिला ने कॉल करने वाले को अपना क्रेडिट कार्ड नंबर, सीवीवी व मोबाइल पर आया ओटीपी दे दिया। इसके कुछ मिनट बाद ही उसके मोबाइल पर संदेश आया कि उसके कार्ड से 41 हजार रुपये की खरीदारी की गई है। इस पैसे से वन प्लस 7 टी प्रो मोबाइल खरीदा गया था। पुलिस को जांच में इस आरोपी की लोकेशन जनकपुरी में मिली।

इसके बाद इन आरोपियों को राजौरी गार्डन व करोल बाग से गिरफ्तार कर लिया गया। राजन ने पुलिस को बताया कि वह कॉल सेंटर में काम करता था और अन्य लोगों के नामों से फोन करने में माहिर हो गया था। वह जामताड़ा आधारित वेब सीरीज व उसमें ठगी करने वाले पात्रों से प्रभावित हुआ था। राजन व प्रीति नये क्रेडिट कार्ड धारकों को बैंक कर्मी बनकर फोन करते थे। यह लोग फ्री गिफ्ट वाउचर व गिफ्ट का झांसा देकर उनसे ठगी करते थे।

Advertisement