NEET Topper: 720 में से 720 नंबर लेकर आए ओडिशा के शोएब और यूपी की आकांक्षा

NEET परीक्षा 2020 का रिजल्ट जारी किया जा चुका है. इस परीक्षा में दो छात्रों ने 720 में से 720 अंक लाकर इतिहास रच दिया है. पहला नाम ओड़िशा के शोएब आफताब का है और दूसरा नाम यूपी की आकांक्षा सिंह का है. दोनों 100 प्रतिशत अंक पाकर नीट 2020 के टॉपर्स बने. शोएब ने कोटा और आकांक्षा ने दिल्ली में रहकर नीट परीक्षा की तैयारी की थी. इस साल टॉप- 5 टॉपर्स ने तीन लड़कियों ने अपनी जगह बनाई है.

गौरतलब हो कि NEET परीक्षा 2020 में 14.37 लाख से अधिक उम्मीदवार कोरोना महामारी के बावजूद 13 सितंबर को प्रवेश परीक्षा में शामिल हुए थे. इस परीक्षा में सफल हुए छात्रों को देश के सरकारी और प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में संचालित एमबीबीएस और बीडीएस कोर्सेज में एडमिशन मिलेगा. केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने सभी सफल छात्रों को शुभकानाएं दी. साथ ही परीक्षा कराने वाली संस्थाओं की भी तारीफ की.

कौन हैं सौ फीसदी नंबर लाने वाले शोएब आफताब?

नीट परीक्षा में सौ फीसदी नंबर लाकर इतिहास रचने वाले 18 वर्षीय शोएब आफताब उड़ीसा राज्य के राउरकेला के रहने वाले हैं. वो ऐसे पहले स्टूडेंट बन गये हैं, जिन्होंने ओडिशा से देश में पहली रैंक पायी. 2 साल की तैयारी के बाद वो अपने पहले ही प्रयास में नीट परीक्षा पास करने में सफल रहे. अब वो एम्स दिल्ली में दाखिले चाहते हैं. शोएब के पिता एक व्यवसायी हैं. शोएब न केवल पढ़ाई में बल्कि क्विज एवं कॉपीटिशन में भी अपनी प्रतिभा का दम दिखा चुके हैं. जूनियर साइंटिस्ट की परीक्षा में उन्होंने पूरे देश में 35वीं रैंक हासिल की थी.

720 में से 720 नंबर लाने वाली आकांझा से मिलिए

17 वर्षीय दिल्ली की रहने वाली आकांक्षा भारतीय वायुसेना के रिटायर्ड सार्जेंट की बेटी हैं. आकांक्षा मूलत: यूपी के कुशीनगर के अभिनायकपुर गांव की रहने वाली हैं. 11 वीं-12वीं की पढ़ाई के लिए वो दिल्ली गईं और वहीं रहकर खुद को नीट के लिए तैयार किया. आकांक्षा की मां रुचि सिंह प्राथमिक स्‍कूल में टीचर हैं. अपनी सफलता का श्रेय आकांक्षा ईश्वर, माता पिता और अपने कोचिंग इंस्टीट्यूट को देती हैं. आकांक्षा को पढ़ाई के अलावा गाने सुनना बेहद पसंद है. दिल्ली एम्स को आकांक्षा अपनी प्रेरणा मानती हैं. आगे के सफ़र के लिए आकांक्षा को शुभकामनाएं.

बातचीत ज़रूरी हैं, लड़ाइयां तो चलती रहेंगी. प्यार कायम रहे.

Advertisement